लखनऊ। प्यार का भूत किस कदर किसपर स्वर हो जाये इसका पता ही नहीं चलता है। सच है कि प्यार जो न करवाए वह कम है। एक बड़ी ही अजीब घटना सामने आई है। बताना लाजमी है कि एक महिला पर अपना प्यार का इस कदर भूत सवार था कि वो अपने प्यार की पत्नी को मारने के लिए उसके घर पहुंच गई। और उसपर हमला बोल दिया। हालांकि महिला ने जैसे तैसे खुद को बचाया। बता दें कि पूर्व विधायक की बहू पर युवती पर आरोप लगाया है कि वो उसको और उसकी मासूम बेटी को मरने के लिए आई थी।

हजरतगंज इलाके के कसमंडा अपार्टमेंट में रहने वाली सपा के पूर्व विधायक की बहू पर एक युवती ने उसके फ्लैट में घुसकर हमला कर दिया। पीड़िता को किसी तरह से उसकी बहन व अन्य ने मिलकर बचाया। उसका आरोप है कि हमलावर युवती कह रही थी कि तेरा पति मेरा है, अब तुझे मरना होगा। मामले में हजरतगंज कोतवाली में हमलावर युवती के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर पुलिस ने छानबीन शुरू की है।

फर्रुखाबाद से सपा के पूर्व विधायक विजय सिंह के बेटे अविनाश सिंह का हजरतगंज इलाके के कसमंडा अपार्टमेंट में फ्लैट है। जहां वो पत्नी एकता चौधरी व चार साल की बेटी के साथ रहते हैं। एकता का आरोप है कि इंदिरानगर में रहने वाली वीरांगना सिंह की उनके पति अविनाश से तीन साल से दोस्ती है। मगर कुछ दिनों पहले ही एकता ने वीरांगना के घर आने पर रोक लगा दी थी।

एकता का कहना है कि अविनाश कुछ दिनों से कानपुर में हैं। इस बीच 29 मई की सुबह डोरबेल बजी। एकता ने जैसे ही दरवाजा खोला तो लोहे का रॉड लेकर आई वीरांगना ने उन पर हमला कर दिया। वीरांगना चीख रही थी कि तेरा पति मेरा है, अब तुझे मरना ही होगा। एकता किसी तरह से बच गईं तो वीरांगना ने उन्हें दबोच लिया और गला दबाने लगी। शोर सुनकर फ्लैट में मौजूद एकता की बहन ने उन्हें बचाया।

एकता का आरोप है कि वीरांगना के सिर पर खून सवार था और वो चीख-चीखकर कह रही थी कि उन्हें व उनकी मासूम बेटी को जान से मार डालेगी। घटना से सहमी एकता ने हजरतगंज कोतवाली में तहरीर दी। छानबीन कर पुलिस ने इंदिरानगर की रहने वाली वीरांगना के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। इंस्पेक्टर श्यामबाबू शुक्ल का कहना है कि मामले में छानबीन कर कार्रवाई की जाएगी। एकता चौधरी ने बताया कि उनके ससुर विजय सिंह फर्रुखाबाद से सपा के पूर्व विधायक हैं। उन्हें ब्रह्मदत्त द्विवेदी हत्याकांड में उम्रकैद हो चुकी है और वे जेल में सजा काट रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *