●बलात्कार के आरोप में जेल भिजवाने से खफा रामखेलावन ने कर दी गीता की हत्या आला कत्ल बरामद।●अपर पुलिस अधीक्षक ने भी किया घटनास्थल का मुआयना और अभियुक्त से की पूछताछ।●हत्याकांड के मामले में कोतवाली पुलिस की तत्परता को देख एडिशनल एसपी ने की तारीफ।

            मृतका गीता देवी की फाइल फोटो

शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: यूपी के रायबरेली की महराजगंज कोतवाली पुलिस ने बीती रात क्षेत्र के ककरहिया मजरे दौतरा गांव में हुए गीता हत्याकांड के नामजद एकमात्र मुलजिम रामखेलावन पुत्र चौहान को घटना के 4 घंटे के भीतर ही गिरफ्तार कर उसके निशानदेही पर आला कत्ल भी बरामद कर लिया है। पता चला है कि, अभियुक्त ने कबूल किया है कि, फर्जी बलात्कार के मामले में फंसा कर उसे जेल भेजवाने के मामले से वो नाराज था, और मौका पाते ही उसने बदला ले लिया। हालांकि पुलिस अभी भी अभियुक्त से पूछताछ कर रही है।

    आपको बता दें कि, बीते सोमवार की रात 9:30 बजे मृतिका गीता देबी बेवा रामफेर अपने दरवाजे पर बैठी हुई थी, तभी गांव के ही रामखेलावन पुत्र चौहान ने आकर उसके ऊपर हमला बोल दिया था। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी। प्रति पक्षी उसे मरा हुआ समझ कर भाग निकला था। ग्रामीणों ने जब गीता देवी को सीएचसी पहुंचाया तो वहां मौजूद डॉक्टर भावेश कुमार यादव ने गीता को मृत घोषित कर दिया था। सूचना पर आनन फानन सक्रिय हुई पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना करके आवश्यक विधिक कार्यवाही करने के उपरांत अभियुक्त की खोजबीन में लग गई। प्रभारी निरीक्षक रेखा सिंह की अगुवाई में पुलिसकर्मियों की टीम ने अभियुक्त को गांव से ही गिरफ्तार कर लिया। वह एक जगह छिपा बैठा हुआ था।

    बकौल पुलिस अभियुक्त ने पूछताछ में वह रक्तरंजित लाठी भी बरामद करा दी, जो उसने घटना में प्रयुक्त किया था। पूछताछ में पता चला है कि, अभियुक्त रामखेलावन के विरुद्ध मृतिका गीता देवी ने 7 जनवरी 2020 को यह आरोप लगाया था कि, अभियुक्त ने उसके साथ जबरन दुराचार किया है। स्थानीय स्तर पर मुकदमा नहीं लिखा गया, तो गीता ने न्यायालय की शरण ली थी। जिस पर न्यायालय के आदेश पर महराजगंज पुलिस ने 16 जून 2020 को रामखेलावन के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करते हुए विवेचना शुरू कर दी थी, और पुलिस ने साक्ष्य संकलित कर अभियुक्त को दिनांक 20 सितंबर 2020 को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

    अभियुक्त ने पैरवी करा कर जमानत करा ली, और 2 नवंबर 2020 को जेल से छूटकर गांव आ गया। इसके बाद से प्रतिशोध की भावना में भरे रामखेलावन ने कई बार गीता देवी पर जोर जबरदस्ती की कोशिश की, लेकिन असफल होने के बाद सोमवार 7 जून 2021 को पहले उसने शराब पी, उसके बाद उसने गीता को जान से मारने का इरादा करते हुए उसके घर पहुंचा, और इस कदर उसके सिर पर दनादन तब तक प्रहार करता रहा, जब तक उसे भरोसा नहीं हो गया की वह मर चुकी है। हालांकि इस दौरान गीता के बड़े लड़के महेश (12) ने अपनी मां को बचाने की कोशिश की, इस पर आयुक्त ने महेश को भी जमकर पीटा। जिससे उसका एक हाथ टूट गया। घटना को अंजाम देने के बाद लोगों को मौके की ओर आते देख वह फरार होकर गांव में जाकर छिप गया।

    मामले में पुलिस ने मृतिका के भाई राजेंद्र कुमार निवासी हिंदू गंज मजरे अलाईपुर थाना मोहनगंज जनपद अमेठी की तहरीर पर रामखेलावन पुत्र चौहान के विरुद्ध हत्या का मुकदमा पंजीकृत कर लिया है, और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना में प्रभारी निरीक्षक रेखा सिंह ने तत्परता दिखाते हुए घटना के 4 घंटे के भीतर अभियुक्त रामखेलावन को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर आला कत्ल के रूप में रक्तरंजित लाठी भी बरामद कर ली है।

इनसैट…..मृतका गीता के परिवार में उसके चार बच्चे महेश (12), उमेश कुमार (6), बेटी मनीषा (3), तथा सबसे छोटा बेटा डेढ़ साल का है। गीता देवी के ऊपर लगभग 1 वर्ष पहले दुखों का पहाड़ तब टूट पड़ा था। जब उसका पति दीवाल के नीचे दब गया था, और दीवाल के नीचे बंधे बैल का सींघ उसकी गर्दन के पार हो गया था। उस समय सबसे छोटी बेटी गीता के गर्भ में थी। मृतिका गीता देवी के परिवार में अब चार अनाथ हुए बच्चों को देखरेख करने वाला कोई नहीं है। निकट सगे संबंधियों में मृतिका का भाई राजेंद्र कुमार घटना की सूचना मिलते ही मदद के लिए आया। उसने ही अभियुक्त के विरुद्ध तहरीर दी है।

इनसेट……इस लोमहर्षक घटना की सूचना मिलते ही एसपी श्लोक कुमार ने महराजगंज पुलिस को कड़ी हिदायत देते हुए अभियुक्त की तत्काल गिरफ्तारी का निर्देश दिया था, और उन्होंने मामले की तहकीकात के लिए अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव को मौके पर भेजा। अपर पुलिस अधीक्षक को कोतवाली प्रभारी रेखा सिंह, निरीक्षक अपराध असलम अली ने घटनास्थल का मुआइना करवाया। अपर पुलिस अधीक्षक ने घटना में पुलिस की तत्परता की सराहना करते हुए प्रभारी निरीक्षक रेखा सिंह और निरीक्षक अपराध असलम अली की तारीफ की है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *