●पंकज प्रसून ने किया महराजगंज ब्लॉक के कोविड केयर सेंटरों का दौरा।

●हसनपुर गांव में पहले से चल रहे विश्वास कोविड केयर सेंटर पर खुला जनपद में तीसरा “प्रसून काढ़ा कैफे”।

●विश्वास केयर और प्रसून काढ़ा सेंटर को विकासखंड क्षेत्र के लोगों ने बताया संजीवनी।

●विश्वास ट्रस्ट के सहयोग से पंकज प्रसून द्वारा चलाई जा रही मुहिम आओ गांव बचाएं क्षेत्रवासियों के लिए साबित हो रही वरदान।

शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: विश्वास ट्रस्ट के सहयोग से विख्यात व्यंग्यकार कवि पंकज प्रसून द्वारा “आओ गांव बचाएं मुहिम” के तहत हसनपुर गांव में खोले गए विश्वास कोविड केयर सेंटर में काढ़ा कैफे में उद्घाटन के दिन ही भारी भीड़ उमड़ी, और सब ने काढ़ा का स्वाद चखा।

           (हसनपुर गांव में खुला प्रसून काढ़ा कैफ़े)

   आपको बता दें कि, इस मौके पर पंकज प्रसून ने कहा कि, भारत की दुर्लभ जड़ी बूटियों से निर्मित यह काढ़ा हमारे शरीर को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए बेहद गुणकारी प्रतीत हो रहा है। इस काढ़ा के सेवन से शरीर में प्रतिरोधक क्षमता में काफी तेजी से वृद्धि होती है, और कोरोना वायरस इससे समाप्त हो जाता है। उन्होंने कहा कि, भारत मुख्य रूप से गांव में बसता है। इसलिए गांव वालों को कोरोनावायरस से बचाना आज का सबसे आवश्यक काम है।

पंकज प्रसून पहुंचे मऊ गर्वी में स्थापित कोविड केयर सेन्टर।

    देश के महानगरों, शहरों में कोविड-19 से निपटने के लिए तमाम संसाधन उपलब्ध है। लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में संक्रमण से बचाव के साधन सीमित है। ऐसी दशा में यह काढ़ा आम जनता के लिए बेहद कारगर साबित होगा। उन्होंने कहा कि, विश्वास ट्रस्ट के सहयोग से पूरे देश में तमाम कोविड केयर सेंटर चलाए जा रहे हैं। विभिन्न उपकरणों और दवाओं से सुसज्जित इन केयर सेंटरों के माध्यम से कोविड महामारी के विरुद्ध यह अभियान काफी सफल साबित हुआ है।

मऊ के सेंटर पर टेंपरेचर चेक करते हुए मुहिम के कोऑर्डिनेटर नीरज शुक्ला।

    व्यंगकार कवि पंकज प्रसून ने कहा कि, पर्याप्त मात्रा में काढ़ा पैकेटों में उपलब्ध करा दिया गया है। सेंटर संचालक पूरी रुचि लेकर काढ़ा बनवा कर ग्रामीणों को पिला रहे हैं। ऐसा करने से हम लोगों को काफी आत्म संतोष की प्राप्ति हो रही है।

    इस मौके पर हसनपुर गांव में बनाए गए कोविड केयर सेंटर के प्रभारी आदित्य श्रीवास्तव ने विश्वास ट्रस्ट और संयोजक पंकज प्रसून की प्रशंसा करते हुए कहा कि, हसनपुर में खोले गए इस केयर सेंटर से आसपास के दर्जनों गांव के हजारों लोग लाभान्वित होंगे।

पंकज प्रसून पहुंचे मऊ गर्वी में स्थापित कोविड केयर सेन्टर।

    इसी क्रम में उन्होंने ट्रस्ट के सहयोग से मऊ के जनता विद्यालय में खोले गए विश्वास कोविड केयर सेंटर में चल रही व्यवस्थाओं का जायजा लिया, और कहा कि, इस कार्य की प्रेरणा उनको कोरोना काउंट के दौरान गंगा घाटों के किनारे बालू में दफनाए गए शवों को देखकर मिली। बड़ी तादाद में यह महामारी गांव को खाली करती जा रही थी। तभी से उन्होंने “आओ गांव बचाएं” मुहिम को साकार रूप देने का निश्चय किया, और यह विश्वास ट्रस्ट के सहयोग से सफलतापूर्वक संचालित हो रहा है।

  वहीं इस मुहिम के कोऑर्डिनेटर नीरज शुक्ला ने बताया कि, काढ़ा सेंटर में न सिर्फ नि:शुल्क काढ़ा मिल रहा है, बल्कि वहां आने वाले ग्रामीणों का ऑक्सीजन सैचुरेशन भी चेक किया जाता है। साथ में वैक्सीन के लिए लोगों को जागरूक भी किया जाता है। जिन लोगों ने पहली डोज ले ली है, उन्हें समय पर दूसरी डोज लेने के लिए भी कहा जाता है।

   इस मौके पर मऊ सेंटर संचालक नीतू अवस्थी, वंदना, दशरथ पासी, दिनेश मिश्रा, विनय सिंह, अवधेश चौधरी, मार्तंण्ड श्रीवास्तव, सोनू यादव, कृष्ण कुमार द्विवेदी, आशीष तिवारी, अनुराग, उत्कर्ष, सुंदरलाल धोबी, राजकुमार शर्मा, सियाराम कोरी समेत बड़ी तादाद में लोग मौजूद रहे।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *