क्या Xiaomi का 200W फास्ट चार्जिंग सिस्टम बैटरी की उड़ा देगा धज्जियां? हैरान कर देगा सच

क्या फास्ट चार्जिंग अच्छी है? इसके हमेशा दो जवाब होते हैं। जो लोग इसके लिए सहमत हैं वे एक छोटे वेटिंग पीरियड को उचित ठहराएंगे, जबकि असहमत लोग बैटरी की लंबी उम्र को मुख्य कारण के रूप में बताएंगे। खैर, लगता है कि Xiaomi दोनों समूहों के लिए अपने 200W चार्जिंग सिस्टम का सच सामने ला दिया है, जो हैरान करने वाला है। कंपनी ने चीनी सोशल मीडिया वेबसाइट पर यह समझाने की कोशिश की कि उसका सिस्टम हर किसी से अलग कैसे है।

Xiaomi ने अपने 200W सिस्टम के लिए हमारे लिए कुछ चौंकाने वाले आंकड़े जारी किए हैं। कंपनी का कहना है कि इसे सिस्टम से 4000mAh क्षमता की बैटरी केवल 8 मिनट में फुल चार्ज हो सकती है, जो Xiaomi के 120W सिस्टम द्वारा बनाए 15 मिनट के पिछले विश्व रिकॉर्ड को भी पीछे छोड़ देती है। इसका मतलब है कि जब आप अपने फोन पर काम करने में व्यस्त हों तो सॉकेट के बहुत कम चक्कर लगाने होंगे।

क्या बैटरी सेवर है 200W चार्जिंग सिस्टम?
इसमें कोई दो राय नहीं है कि फास्ट चार्जिंग सिस्टम कुछ साइड इफेक्ट के साथ आता है, जैसा कि पिछले सिस्टम के साथ भी देखा गया था। कहा जा रहा था कि 200W सिस्टम यूज करने से बैटरी सामान्य से अधिक तेजी से खराब होती है। Xiaomi ने अब इस भ्रम को स्पष्ट कर दिया है। कंपनी का कहना है कि उसका 200W सिस्टम किसी बैटरी की क्षमता को उतना ही नुकसान पहुंचाता है, जितना कि कोई रेगुलर 5W चार्जर दो साल में पहुंचाता है।

Xiaomi का कहना है कि उसकी तकनीक 800 चक्रों में बैटरी की क्षमता को केवल 20 प्रतिशत कम करेगी। उन 800 चक्रों को फुल चार्ज होने की आवश्यकता है, न कि क्विक टॉप-अप होने की। मोटे तौर पर समझें तो, आपके फोन की बैटरी दो साल की अवधि में अपनी क्षमता का 80 प्रतिशत से अधिक बनाए रखने में सक्षम होगी।

 

हालांकि, अधिकांश उपयोगकर्ताओं को इससे फर्क नहीं पड़ना चाहिए, क्योंकि ज्यादातर लोग अपने फोन को दो साल से ज्यादा इस्तेमाल नहीं करते। इसके अलावा, Xiaomi जैसी कंपनियां ज्यादा पावर की खपत करने वाले 5G कनेक्शन और हाई रिफ्रेश रेट वाले डिस्प्ले की भरपाई के लिए अपने फोन में बड़ी बैटरी लगा रही हैं। इसलिए, 5020mAh की बैटरी वाले Redmi Note 10 Pro Max जैसे औसत फोन में दो साल बाद भी लगभग 4000mAh क्षमता होगी।

जबकि Xiaomi यह नहीं बताता है कि यह कैसे करता है, ऐसा लगता है कि कंपनी गर्मी को प्रभावी ढंग से समाप्त करने में सक्षम है। समय के साथ आपके फोन की बैटरी खराब होने का मुख्य कारण गर्मी है। आपकी बैटरी जितनी कम उष्मा उत्पन्न करती है, उसकी लंबी उम्र के लिए उतना ही अच्छा है।


फिलहाल 120W सिस्टम केवल चीन में Mi 10 स्पेशल एडिशन के लिए सीमित है
यह देखना बाकी है कि Xiaomi 200W सिस्टम को अपने फोन पर व्यावसायिक रूप से कब उपलब्ध कराता है। Mi 11 Ultra वर्तमान में 67W फास्ट चार्जिंग सॉल्यूशन का उपयोग करता है जबकि 120W सिस्टम केवल चीन में Mi 10 स्पेशल एडिशन के लिए आरक्षित था। Xiaomi एक अंडर-डिस्प्ले कैमरा तकनीक भी विकसित कर रहा है जिसके अगले साल शुरू होने की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *