इब्न ए आदम
जिस तरह से भाजपा हर प्रदेश में दूसरे दलो के नेता तोड़ कर उन्हें टिकट दे रही है , उस हिसाब से वो दिन दूर नहीं जब भाजपा में पुराने भाजपाइयो को टिकट मिलना मुश्किल हो जाएगा । बंगाल का उदहारण आपके सामने हैं , वहाँ ज़्यादातर टिकट दूसरे दलो से आयात किए गए लोगों को दिए गए थे ।
पुराने भाजपाइयो को अब पार्टी में आरक्षण की माँग कर देनी चाहिए । जनता की गाली वो सुने , सरकार की जनविरोधी नीतियो को बचाव वो करे , पेट्रोल- डीज़ल-गैस तक के दाम बढ़ने का बचाव वो करे , महंगाई पर उल्टे सीधे तर्क वो दे , बलात्कार और हत्या तक के आरोपियों के लिए जुलूस वो निकाले , किसानो तक का विरोध वो करे और टिकट उसे मिले जो दल बदल कर चुनाव से 2-4 महीने पहले पार्टी में आए । यह तो अन्याय है ।
भाजपाईयो को चाहिए कि भाजपा में अब कम से कम 20% कोटा अपने लिए फ़िक्स करवा ले । पार्टी के नियमो में लिखवा ले कि 20% टिकट पुराने भाजपाईयो को देना अनिवार्य होगा । वैसे भाजपा का कोई नियम, कोई क़ायदा बचा भी है । अब तो सुना है जो दो लोग बोल दे वो ही पार्टी का क़ानून है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *