मुझे कप्तान बनने की उम्मीद थी लेकिन धोनी को मिली कमान: युवराज सिंह

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) की गिनती भारत के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर्स में की जाती रही है। युवराज (Yuvraj) ने देश के लिए कई यादगार प्रदर्शन किए हैं। युवराज को उम्मीद थी कि उन्हें टीम इंडिया की कमान सौंपी जाएगी। हालांकि बाएं हाथ के इस खिलाड़ी को नजरअंदाज कर महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) को भारतीय टीम की कप्तानी सौंपी गई। युवराज ने एक इंटरव्यू में कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि 2007 के टी20 वर्ल्ड कप में उन्हें भारतीय टीम का कप्तान बनाया जाएगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ और कमान धोनी को सौंप दी गई।

युवराज (Yuvraj Singh) ने कहा, ‘तो भारतीय टीम 50 ओवर का वर्ल्ड कप (World Cup 2007) हार चुकी थी, सही बात है ना? भारतीय क्रिकेट में उस समय काफी हलचल थी और इसके बाद भारत का इंग्लैंड (India Tour of England) का दो महीने का दौरा था। इसके अलावा साउथ अफ्रीका (South Africa) और आयरलैंड (Ireland) का भी दौरा था। फिर एक महीने के लिए टी20 वर्ल्ड कप था। तो कुल मिलाकर चार महीने घर से दूर रहना था।’

गौरव कपूर के शो 22 यार्ड्स पॉडकास्ट में युवराज (Yuvraj Singh) ने कहा, ‘तो शायद सीनियर्स को लगा कि उन्हें एक ब्रेक लेने की जरूरत है। जाहिर सी बात है किसी ने भी टी20 वर्ल्ड कप को गंभीरता से नहीं लिया था। मुझे उम्मीद थी कि मैं टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम का कप्तान बनूंगा लेकिन फिर महेंद्र सिंह धोनी को कमान सौंप दी गई।’

युवराज से पूछा गया कि धोनी के कप्तान बनने के बाद धोनी (Dhoni) के साथ रिश्ते कैसे रहे, इस पर उन्होंने कहा, ‘जो भी कप्तान हो आपको उसका समर्थन करना ही चाहिए। फिर चाहे वह राहुल (Rahul Dravid) हों, या सौरभ गांगुली (Sourav Ganguly) या फिर भविष्य में कोई भी रहे। आखिरकार आप टीममैन होना चाहते हैं और मैं ऐसा ही था।’

भारत के टी20 वर्ल्ड कप जीत में युवराज (Yuvraj Singh) ने शानदार प्रदर्शन किया था। उन्होंने कई यादगार पारियां खेली थीं। फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराकर खिताब (India vs Pakistan T20 World Cup) जीता था। इसी टूर्नमेंट में युवराज ने इंग्लैंड के खिलाफ हुए मैच में स्टुअर्ट ब्रॉड के एक ओवर में छह छक्के लगाए थे। साल 2011 में जब भारतीय टीम ने 28 साल बाद 50 ओवर वर्ल्ड कप जीता तो भी युवराज ने कमाल का खेल दिखाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *