Smit Patel shift In USA : 8 साल से था इंतजार…नहीं मिली टीम इंडिया की कैप, अब भारत छोड़ अमेरिका गया  236  रन की पारी खेल चुका ये विकेटकीपर

अंडर-19 क्रकेट की सफलता आपको हमेशा सीनियर नेशनल टीम में जगह की गारंटी नहीं देती। कई होनहार अंडर-19 क्रिकेटर घरेलू क्रिकेट तक ही सीमित रह जाते हैं। 2012 अंडर-19 वर्ल्ड कप विजेता टीम के सदस्य रहे विकेटकीपर बल्लेबाज स्मित पटेल (Smit Patel) भी उनमें से एक हैं, जिन्होंने 8 साल तक टीम इंडिया की ओर से डेब्यू का ख्वाब पाले रखा लेकिन उन्हें मौका नहीं मिला।

क्रिकेट के प्रति जूनुन ने 28 वर्षीय पटेल को देश छोड़ने पर मजबूर कर दिया। हाल में स्मित क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास का ऐलान कर भारत को छोड़ अमेरिका चले गए। अब वह अमेरिका की ओर से इंटरनैशनल क्रिकेट खेलते हुए नजर आएंगे। हालांकि इसके लिए उन्हें अगस्त 2022 तक इंतजार करना होगा।

स्मित पटेल ने कहा, ‘ मैं पिछले 8 साल से भारत की ओर से इंटरनैशनल मैच खेलने का सपना देख रहा था। लेकिन मुझे मौका नहीं मिला। भारत में विकेटकीपर बैट्समैन के बीच काफी प्रतिस्पर्धा है। मुझे लगा कि भारत में मेरा क्रिकेट करियर आगे नहीं बढ़ सकता। इसलिए मैंने अमेरिका शिफ्ट होने का फैसला किया। मेरे पैरेंट्स पिछले 11 साल से अमेरिका में रह रहे हैं। इसलिए मैंने सोचा कि मैं उनके पास रहकर अपने क्रिकेट करियर का आगे बढ़ा सकता हूं।’

स्मित अब दुनिया के किसी भी क्रिकेट लीग में खेल सकते हैं। बीसीसीआई (BCCI) के नियम के मुताबिक यदि क्रिसी क्रिकेटर को विदेशी लीग में खेलना है तो उसे पहले क्रिकेट से संन्यास की घोषणा करनी होगी। ऐसे में पटेल अब कहीं भी खेलने के लिए स्वतंत्र हो गए हैं। स्मित पटेल की फैमिली साल 2010 में गुजरात से पैंसेलवेनिया शिफ्ट हो गई थी।

होल्डर की कप्तानी में सीपीएल में बारबाडोस ट्राइडेंट्स की ओर से खेलेंगे
स्मित कैरेबियाई प्रीमियर लीग (CPL 2021) में अपना जलवा दिखाते हुए नजर आएंगे। उन्हें बारबाडोस ट्राइडेंट्स फ्रैंचाइजी (Barbados Tridents) ने अपने साथ जोड़ा है। बारबोडोस की कमान विंडीज टेस्ट टीम के कप्तान जेसन होल्डर (Jason Holder) के हाथों में होगी। बकौल पटेल, ‘ मैं इस सीपीएल 2021 में खेलने को लेकर काफी उत्साहित हूं। जेसन होल्डर की कप्तानी में खेलना अलग अनुभव होगा। बारबाडोस की टीम उनकी कप्तानी में खिताब अपने नाम कर चुकी है। मैंने इस टी20 लीग के लिए ट्रेनिंग भी शुरू कर दिया है। उम्मीद है कि मैं इसमें अच्छा प्रदर्शन करने में सफल रहूंगा।’ सीपीएल का आयोजन इस वर्ष 28 अगस्त से 19 सितंबर तक होगा।

‘आईपीएल खेलना चाहता था’

दाएं हाथ के पूर्व विकेटकीपर स्मित ने कहा, ‘मैंने आईपीएल (IPL) खेलने के लिए भी काफी इंतजार किया लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी। कई बार ऑक्शन (IPL Auction) में मेरा नाम शॉटलिस्ट हुआ लेकिन किसी फ्रैंचाइजी ने मुझमें दिलचस्पी नहीं दिखाई।’

बीसीसीआई से मिला एनओसी

स्मित ने कहा कि उन्हें भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की ओर से एनओसी मिल गया है। बोर्ड से उन्हें कोई गिला शिकवा नहीं है। बड़ौदा, गोवा, त्रिपुरा और गुजरात की ओर से घरेलू क्रिकेट खेल चुके स्मित ने कहा, ‘ मैंने बीसीसीआई से एनओसी का आग्रह किया था और उन्होंने मुझे आसानी से दे दिया। मैं अब किसी भी लीग में खेल सकता हूं।’ स्मित अमेरिका के ग्रीन कार्ड होल्डर हैं।

स्मित ने 55 फर्स्ट क्लस मैचों में 11 शतक लगाए
स्मित ने गुजरात की ओर से खेलते हुए 55 फर्स्ट क्लास मैचों में 3278 रन बनाए हैं जिसमें 11 शतक और 14 अर्धशतक शामिल है। इस दौरान उनका बेस्ट स्कोर 236 रन रहा है। यह पारी उन्होंने 2020 में रणजी ट्रोफी में गोवा की ओर से मिजोरन के खिलाफ खेली थी। विकेट के पीछे स्मित ने कुल 123 शिकार किए हैं जिसमें 114 कैच और 9 स्टंपिग शामिल है।

अंडर-19 वर्ल्ड कप फाइनल में खेली थी अर्धशतकीय पारी

स्मित पटेल ने उन्मुक्त चंद (Unmukt Chand) की अगुआई वाली अंडर-19 वर्ल्ड कप टीम के फाइनल में शानदार बल्लेबाजी कर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। 16 मई 1993 को जन्मे स्मित ने उन्मुक्त चंद के साथ फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नाबाद शतकीय साझेदारी कर टीम को वर्ल्ड चैंपियन बनाने में बड़ी भूमिका निभाई। उन्होंने फाइनल में नाबाद 62 रन की पारी खेली। उस मैच में उन्मुक्त ने 130 गेंदों पर नाबाद 111 रन बनाए थे।

धोनी की विकेटकीपिंग और कोहली की बैटिंग है पसंद
स्मित ने कहा कि बतौर विकेटकीपर उन्हें मुझे महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की विकेटकीपिंग पसंद हैं। वह सचिन तेंडुलकर (Sachin Tendulkar) की बल्लेबाजी देखकर बड़े हुए हैं। लेकिन वर्तमान विराट कोहली (Virat Kohli) की बल्लेबाजी उन्हें बेहद पंसद है। पटेल ने कहा, ‘ मैं धोनी की तरह विकेटकीपर करना चाहता था। वह वर्ल्ड के बेस्ट विकेटकीपर्स में से एक हैं। वह रैंकिंग में कई वर्षों तक नंबर एक रहे हैं। जहां तक बल्लेबाजी का सवाल है तो आज की तारीख में विराट की टक्कर में कोई नहीं है। उनका कंवर्जन रेट बहुत अच्छा है। वह लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। मैच फिनिश कैसे करना है यह कला वह बखूबी जानते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *