इब्न ए आदम
उत्तर प्रदेश की जनता ने 2002 के बाद से भाजपा को सत्ता से बाहर रखा। लगातार दस साल तो भाजपा प्रमुख विपक्षी पार्टी तक नहीं बन पायी । राजनाथ सिंह 2002 में कुर्सी से हटे और योगी जी 2017 में कुर्सी पर बैठे ।
इसके बाद भी सोशल मीडिया पर लोग( में भी उनमें शामिल हूँ ) लगातार उत्तर प्रदेश को गोबर प्रदेश और पता नहीं क्या क्या संज्ञा देते हैं । क्या यह उचित है ??
बिहार , राजस्थान , झारखंड , मध्य प्रदेश , छत्तीसगढ़, गुजरात , हिमाचल प्रदेश , कर्नाटक , महाराष्ट्र , उत्तराखंड को बोलिए आप गोबर प्रदेश जिन्होंने भाजपा को पिछले 20-25 सालों में उभारा है , मज़बूत किया है ।
उत्तर प्रदेश के लोगों से 2017 में जो गलती हो गयी थी उसे हम लोग मिलकर 2022 में सुधार लेंगे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *