प्रयागराज। दिल को झकझोर देने वाला मामला सामने आया है। बताना लाजमी है कि जिंदगी से जूझ रही युवती के साथ गैंगरेप जैसी खौफनाक वारदात को अंजाम दिया गया है।बता दें कि ऑपरेशन थिएटर के अंदर गैंगरेप किया गया। गनीमत ये रही कि युवती ने अपनी जिंदगी की जंग हरने से पहले काजग पर वारदात की पूरी दस्ता वया कर दी।

यूपी में प्रयागराज के स्वरूप रानी नेहरू हॉस्पिटल में गैंगरेप के मामले में पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। पुलिस एक-एक तथ्यों को खंगालने में जुट गई है। इसी जांच के क्रम में तीसरे दिन भी जांच जारी रही। गुरुवार को इस मामले में पोस्टमॉर्टम के बाद तैयार की गई स्वैब को जांच के लिए लखनऊ भेज दी गई है। इसके अलावा पुलिस ने स्वरूप रानी नेहरू हॉस्पिटल के एसआईसी से घटना के समय ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों की भी लिस्ट मांगी है। इसके अलावा पीड़िता मृतक की हैंड राइटिंग के मिलान के लिए फोरेंसिक लैब भेजी जाएगी।

स्वरूपरानी नेहरू हॉस्पिटल के ऑपरेशन थिएटर के अंदर गैंगरेप की घटना के आरोप के बाद पूरे प्रयागराज में कोहराम मच गया। जहां एक ओर पीड़िता का परिवार मामले की जांच और दोषी डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठाई है तो वहीं एसआरएन के डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ इन सारे आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए प्रदर्शन किया।

इस पूरे घटनाक्रम की जांच के लिए यूपी कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह से मुलाकात की और अपनी मांगों का ज्ञापन सौंपा है। वहीं, गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच में जुट गई है। पीड़िता ने अपने भाई को अपनी आपबीती की कहानी कागज पर अपने हाथ से लिख कर बताई थी। उसके बाद से ही परिवार ने डॉक्टरों के खिलाफ जांच की मांग की थी।

इस पूरे घटनाक्रम की जांच में जुटी पुलिस अभी कुछ भी इस मामले में बोलने से इनकार कर कर रही है। उनका कहना है कि इस पूरे मामले की जांच चल रही है और जांच के बाद जो तथ्य सामने आएंगे, उसकी जानकारी दी जाएगी। वहीं, इस पूरे घटनाक्रम में समाजवादी पार्टी लगातार प्रदर्शन कर रही है और दोषी मेडिकल टीम के खिलाफ कार्रवाई की मांग उठा रही है। हालांकि, पीड़िता की मौत के बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी। इस पर भी समाजवादी पार्टी ने सवाल खड़े किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *