कर्फ्यू के बीच भिड़े नडाल-जोकोविच: ऐतिहासिक मैच के लिए दर्शकों को दी गई थी खास छूट

आखिरकार ‘लाल बजरी के बादशाह’ राफेल नडाल हार ही गए। नडाल को क्लो कोर्ट पर हराना हर किसी के लिए आसान नहीं है। इतिहास में केवल दो ही खिलाड़ी हैं जो ऐसा कर पाए हैं, जिसमें जोकोविच ने शुक्रवार देर रात दूसरी बार यह कमाल किया। नडाल के साथ यह उनके करियर की 58वीं भिड़ंत थी, जिसमें सर्बियाई खिलाड़ी ने 3-6, 6-3, 7-6 (4), 6-2 से बाजी मारी।

कर्फ्यू में ढिलाई
चार से ज्यादा घंटे तक चले सेमीफाइनल में जोकोविच ने पहला सेट गंवाने के बाद वापसी की और नडाल की 14वें फ्रेंच ओपन और रेकॉर्ड 21वें ग्रैंडस्लैम खिताब की उम्मीद तोड़ दी। अब रविवार को फाइनल में उनका सामना यूनान के 22 वर्षीय स्टेफानोस सिटसिपास से होगा। करीब पांच हजार दर्शकों के सामने खेला गया यह मैच जबरदस्त रोमांचक रहा, तीसरे सेट के 98 मिनट तक मैच चलने के बाद स्थानीय प्रशासन ने ऐतिहासिक फैसला लिया। दरअसल, कोरोना वायरस प्रतिबंध के कारण फ्रांस में रात 11 बजे से कर्फ्यू लागू हो जाता है, लेकिन दर्शकों को मैच देखने की अनुमति दी गई।

रोलां गैरां का सर्वकालिक बेहतरीन
मैच
शीर्ष वरीय जोकोविच पहला सेट गंवाने के बाद चौथे सेट में 0-2 से पिछड़ रहे थे लेकिन फिर उन्होंने छह गेम जीतकर क्ले कोर्ट मेजर टूर्नामेंट में छठी बार फाइनल में प्रवेश किया। उन्होंने मैच के बाद कहा, ‘यह उन रात और मैचों में से एक है जो आपको हमेशा याद रहेंगे। निश्चित रूप से रोलां गैरां में मेरे मैचों में सर्वश्रेष्ठ मैच था और मैंने अपने पूरे करियर में जो मैच खेले हैं, उसमें टेनिस के स्तर को देखते हुए, कोर्ट (क्ले कोर्ट) में सफलता हासिल करने वाले मेरे सबसे बड़े प्रतिद्वंद्वी जिसका पिछले 15 से ज्यादा वर्षों से इस पर दबदबा रहा हो, इसे देखते हुए यह शीर्ष तीन मैचों में से एक था।’

थकान की वजह से हारे नडाल?
स्पेन के दिग्गज ने मैच के बाद स्वीकार किया कि टाईब्रेकर के तीसरे सेट में उनके खराब खेल का कारण थकान हो सकता है, जिसमें उन्होंने एक डबल फाल्ट की। 35 साल के इस स्पेनिश खिलाड़ी ने कहा, ‘गलतियां हो सकती हैं, लेकिन अगर आप जीतना चाहते हो तो आप ऐसी गलतियां नहीं कर सकते। यही टेनिस है। जो परिस्थितियों के अनुरूप बेहतर ढंग से खेल पाया, वह जीत का हकदार है। इसमें कोई शक नहीं, वह जीत का हकदार था। यह सेट एक घंटे 33 मिनट तक चला।

नडाल और फेडरर को पछाड़ने चाहेंगे जोकोविच
अब जोकोविच रविवार को दूसरी बार फ्रेंच ओपन खिताब और ओवरऑल 19वीं मेजर चैम्पियनशिप हासिल करने के लिये सिटसिपास के सामने होंगे. जिन्होंने छठे वरीय एलेक्जेंडर ज्वेरेव को 6-3, 6-3, 4-6, 4-6, 6-3 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया और वह ऐसा करने वाले यूनान के पहले खिलाड़ी बने। जोकोविच अभी नडाल और रोजर फेडरर (दोनों के 20 ग्रैंडस्लैम खिताब) से दो खिताब पीछे हैं और वह इस अंतर को कम करना चाहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *