मोहम्मद जाहिद
असल में पश्चिम बंगाल में दीदी की दी हुई चोट इतनी गहरी है कि अगले दिनों में होने वाले चुनावों को लेकर बड़े बड़े चाणक्य बन रहे लोगों की बुद्धि हिल गयी है।
इतना बड़ा प्रचारतंत्र , पूरी केन्द्र सरकार और प्रधानमंत्री और गृहमंत्री समेत तमाम सूबे के मुख्यमंत्री दीदी के सामने घुटने टेक दिए। उसके बाद मुकुल राय का फिर टीएमसी में वापस आना कुछ लोगों की चाणक्यगिरी का पलीदा लगा गया है। अजय दिख रहे चेहरों की रंगत बदल चुकी है और उन पर अब भी हार का दाग लग चुका है।
इसी छटपटाहट में यह उत्तर प्रदेश को लेकर घबराहट भरी हरकतें कर रहे हैं। ओबीसी वर्ग की नाराजगी अब इनको सबक सिखाने की स्थीति तक आ चुकी है। अब यह कुछ भी कर लें , इनका पश्चिम बंगाल होना तय है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *