जयपुर। एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। बता दें कि पूर्व मिसेज इंडिया बुरी तरफ से फसं गयी है। बताया जा रहा है कि पूर्व मिसेज इंडिया ने एक बिजनेसमैन को पोर्न CD दिखाकर करोड़ो रूपये एठने के आरोपों के तरह गिरफ्तार किया गया है। राजस्थान की राजधानी जयपुर से बड़ी खबर सामने आई है, जहां हनीट्रैप के मामले में पूर्व मिसेज इंडिया राजस्थान 2019 को प्रियंका चौधरी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उस पर आरोप है कि प्रियंका ने एक बड़े बिजनेसमैन को ब्लैकमेल करने के आरोप में हिरासत में लिया है।

शुरुआती जांच में सामने आया है कि 2019 में मिसेज इंडिया राजस्थान बनी प्रियंका चौधरी को लग्जरी लाइफ जीने का शौक था। वह अमीरों की तरह जिंदगी जीना चाहती थी। मंहगी से मंहगी होटल में खाना खाने और आए दिन पार्टी करने जाती थी। लेकिन उसके पास आया ऐसा कोई सीधा जरिया नहीं था जिससे उसकी इतनी कमाई हो सकती। इसलिए उसने साजिश के तहत व्यपारी को अपने जाल में फंसाया।

श्यामनगर थाने के एएसआई जय सिंह ने बताया कि पुलिस ने आरोपी महिला से पूछाताछ कर रही है। वह मूल रुप से उत्तम मार्ग जयपुर रहने वाली है। उसका पति राजस्थान पुलिस में हेडकांस्टेबल है। युवती को शुक्रवार देर रात गिरफ्तार किया गया है। वहीं महिला के शिकार हुए व्यापारी घासीलाल चौधरी पॉश पार्श्वनाथ कालोनी में रहते हैं। उन्होंने युवती के खिलाफ 3 जून को शिकायत दर्ज कराई थी।

दरअसल, प्रियंका चौधरी पर आरोप है कि उसने पहले जयपुर के एक बड़े व्यपारी को अपनी खूबसूरती के जाल में फंसाया और उससे दोस्ती करके लाखों रुपए लिए। इसस पहले वह व्यपारी के साथ अश्लील सीडी बनाकर 30 लाख रुपए के गहने चुकी थी और अब एक करोड़ कैश और करोड़ों के जमीन की डिमांड कर रही थी। व्यपारी ने बताय कि प्रियंका चौधरी अपने पति के साथ 2016 में मेरे घर आई थी। जहां उसने अपने आप को मेरे गांव के पास का बताकर मेरा मकान किराए ले लिया।

धीरे-धीरे वह मुझसे दोस्ती की और मेरे साथ पारिवारिक संबंध बना लिए। जब प्रियंका को पता चला कि व्यपारी के पास बहुत पैसा और जमीन है तो वह उनसे संपर्क बढ़ाने लगी। इसके बाद कई बार मजबूरी का बहाना बताकर आए दिन रुपए मांगने लग गई। इस तरह उसने व्यपारी को फंसाकर लाखों रुपए ऐंठ लिए। वह जब पैसे दोबारा मांगते तो उनको अश्लील सीडी दिखाकर ब्लैकमेल कर फंसाने की धमकी देती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *