कृष्णकांत
राम मंदिर मुकदमे में भी एक अंसारी थे, राम मंदिर जन्मभूमि घोटाले में भी एक अंसारी हैं. मुकदमे वाले अंसारी भले व्यक्ति थे. राम लला का आदर करते थे. घोटाले वाले अंसारी ने हिंदूवादियों के साथ मिलकर राम की जन्मभूमि की खरीद बिक्री की और घोटाला किया.
भारत के फर्जी हिंदूवादी भले मुसलमानों के खिलाफ घृणा अभियान चलाते हैं लेकिन मुसलमान अगर घोटाले में क्राइम इन पार्टनर है तो चलेगा. इनके लिए मुसलमान भला है, अगर वह इनके धतकरम में इनका साथ दे.
इससे हमें एक बार फिर से ये सीख मिलती है कि मंदिर के नाम पर तीस साल से नरक जोत रहे लोगों को मुसलमानों से कोई दिक्कत नहीं है. उन्होंने घोटाला करने में हिंदू मुस्लिम नहीं देखा. सुल्तान अंसारी के साथ मिलकर भगवान की जन्मभूमि और करोड़ों हिंदुओं की आस्था को बेचकर खा गए. इन कमबख्तों का मुस्लिम विरोध सिर्फ हिंदुओं को मूर्ख बनाने के लिए है.
मैंने होश संभालने के बाद जो राय बनाई थी, वह आज तक कायम है. भारत के फर्जी हिंदूवादियों ने मेरा ये यकीन कभी टूटने नहीं दिया कि भगवान उनके लिए सिर्फ सियासत का हथियार हैं. वे वोट और पैसे बटोरने के लिए भगवान के नाम का इस्तेमाल करते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *