लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले में गंगा नदी में बहते एक लकड़ी के बक्से में 21 दिन की मासूम बच्ची मिली है। गंगा की लहरों में छोड़ी गई इस बच्ची को एक नाविक द्वारा बचा लिया गया। नाविक ने जब गंगा में बहते बक्‍से को खोला तो उसमें देवी-देवताओं के फोटो और जन्मकुंडली के साथ एक मासूम बच्ची चुनरी में लिपटी मिली। नाविक ने पुलिस को सूचना दी और बच्ची को बचाने में जुट गया। पुलिस ने लावारिश बच्ची को आशा ज्योति केंद्र पहुंचाया है।

मन को छू लेने वाली इस घटना की सूचना जब सीएम योगी को मिली तो उन्होंने नवजात को बचाने वाले नाविक के लिये इनाम के तौर पर बड़ी घोषणा की। सीएम ने नाविक को तत्काल सरकारी आवास समेत सभी सरकारी सहायता देने के भी निर्देश दिए हैं।

गंगा में बहती मिली लावारिश बच्ची के मामले का राज्य बाल संरक्षण आयोग ने भी संज्ञान ले लिया है और मामले जांच की बात कही है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि नवजात कन्या ‘गंगा’ का पालन पोषण और पूरा खर्चा राज्य सरकार उठाएगी। सीएम योगी ने मां गंगा की गोद में मिली 21 दिन की मासूम गंगा के पालन पोषण की जिम्मेदारी अधिकारियों को दी है। उन्होंने कहा कि नवजात का पालन चिल्ड्रेन होम में सरकारी खर्चे पर अच्छे से किया जाए। जिलाधिकारी समेत संबंधित विभाग पूरी सहायता करे। वहीं बच्ची को बचाने वाले नाविक को सरकारी आवास समेत हर तरह की मदद देने की घोषणा की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *