नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना को लेकर अहम जानकारी दी है। संतोष गंगवार का कहना है कि प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना से असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का भविष्य सुरक्षित हो रहा है और इस योजना में 45 लाख से ज्यादा लोग नामांकित है। अब 45 लाख से ज्यादा लोग इस योजना का फायदा उठा रहे हैं। ऐसे में आपको बताते हैं कि आखिर इस योजना के जरिए लोगों को किस तरह फायदा मिल रहा है और स्कीम में लोगों का क्या फायदा होता है।

आसान भाषा में समझें तो यह एक पेंशन योजना है, जिसके माध्यम से असंगठित लोगों को पेंशन दी जाएगी। इस पेंशन योजना में 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को पेंशन दी जाएगी और सभी लोगों को 3000 रुपये पेंशन दी जाएगी। इसके लिए लोगों को प्रीमियम भी जमा करना होता है और यह उम्र के आधार पर तय होती है। जानते हैं पेंशन योजना से जुड़ी हर एक बात…

मोदी सरकार की यह पेंशन स्कीम असंगठित क्षेत्र के लोगों के लिए है, जिन्हें 36 हजार रुपये पेंशन दी जाएगी। इस स्कीम में 18 से 40 साल की उम्र के लोग जुड़ सकते हैं और योजना में प्रीमियम का अमाउंट भी उम्र के आधार पर किया जाता है। 36 हजार रुपये मिलने वाली सालान पेंशन हर महीने 3000 रुपये के हिसाब से दी जाएगी। इस योजना का फायदा 36 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश को मिल रहा है। इसके लिए 3.52 लाख कॉमन सर्विस सेंटर भी हैं।

उम्र हिसाब से लगता है प्रीमियम?
इस योजना में उम्र के हिसाब से पेंशन दी जाती है और अगर आप योजना में लेट रजिस्ट्रेशन करवाते हैं तो आपको प्रीमियम की राशि ज्यादा देनी होती है। जैसे मान लीजिए अगर आप 18 साल की उम्र में पेंशन स्कीम जमा करवाना शुरू कर देते हैं तो कम प्रीमियम देना होता है, लेकिन अगर आप इसकी शुरुआत 40 साल की उम्र में करते हैं तो आपको ज्यादा पैसे देने होंगे।

कितना देना होता है प्रीमियम?
अगर आप 18 साल की उम्र से पेंशन स्कीम में शुरुआत करते हैं तो 55 रुपये का प्रति महीने योगदान देना होगा। योजना में 55 से 200 रुपये तक प्रीमियम देना होता है, जो उम्र के हिसाब से तय होती है। अगर 18 साल की उम्र लें तो सालाना योगदान 660 रुपये होगा। ऐसा 42 साल करने पर कुल निवेश 27,720 रुपये का होगा। वहीं, 30 साल वालों को 100 रुपये और 40 साल वालों को 200 रुपये योगदान देना होगा।

किसको मिलता है इसका फायदा?
प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन पेंशन योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए पास के CSC सेंटर पर जाना होगा और रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके बाद आपके अकाउंट से हर महीने पैसे कट जाएंगे और रिटायरमेंट के लिए पैसा जमा होता रहेगा। बता दें कि जितना योगदान खाताधारक को होगा, सरकार भी अपनी ओर से उतना ही योगदान करेगी। घरों के काम करने वाली मेड, ड्राइवर, प्लंबर, मोची, दर्जी, रिक्शा चालक, धोबी और खेतिहर मजदूर इसका फायदा ले सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *