महिला को अश्लील मैसेज भेजकर तंग करने वाले मास्टर पर गाज गिर गईं हैं। डीएम तक मामला पहुंचने के बाद प्रभारी बीएसए ने शिक्षक को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। लेकिन, गुरुजी न खुद उपस्थित और न ही उनका कोई जवाब आया। जिस पर बीएसए ने शिक्षक संदीप मलिक की अनुशासनहीनता मानते हुए निलंबित कर दिया है।

पीलीभीत की निवासी महिला ने प्राथमिक विद्यालय गुरगवां के सहायक अध्यापक संदीप मलिक पर गंभीर आरोप लगाए। महिला ने कहा कि संदीप ने उन्हें अश्लील मैसेज भेजकर अभद्रता की। विरोध करने पर डराने, धमकाने के साथ ही गालियां भी दी। महिला ने जब मैसेज को बीएसए को फारवर्ड करने की चेतावनी दी तो संदीप ने स्पष्ट कहा कि मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा।

डीएम के संज्ञान में मामला आने के बाद बीएसए को कार्रवाई के लिए निर्देश दिए। बीएसए ने शिक्षक को नोटिस जारी कर तीन दिन का समय दिया। लेकिन, शिक्षक ने कार्यालय पर अपना स्पष्टीकरण नहीं दिया। जिस पर प्रभारी बीएसए एसएस यादव ने शिक्षक को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए तत्काल निलंबित करते हुए बीईओ कटरा-खुदागंज कार्यालय से संबद्ध कर दिया। इस प्रकरण की जांच बीइओ सुरेश चंद्र और नगर शिक्षा अधिकारी सपना रावत करेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *