सौमित्र रॉय
आज के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2001 से 2014 तक गुजरात पर राज किया। कैसे? कुछ तो मॉडल बनाया होगा, जिस पर मोदी की चरण पादुका रखकर विजय रुपाणी अभी राज कर रहा है? गुजरात में मोदी ने कुछ तो अच्छा काम किया होगा, जिसके कारण 7 करोड़ गुजराती बीजेपी को वोट देते हैं?
राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण-5 में हायर सेकेंडरी तक पहुंचने वाली ग्रामीण बालिकाओं के मामले में टॉप 10 में आखिरी नंबर पर है। केरल टॉप पर है, जहां 94% बालिकाएं हायर सेकेंडरी पढ़कर निकलती हैं।
ये गुजरात का विकास मॉडल है, जिसमे झूठ की हवा भरकर आरएसएस ने 2014 में पूरे देश को उल्लू बनाया। उसके बाद से ही गुजरात सरकार राज्य में ग़रीबी, स्वास्थ्य की बदहाली छिपाती रही है। कोरोना में लाशों को छुपाया गया।
मोदी ने फिर किसका विकास किया?
मोदी ने असल में गुजरात और वहां के ग़रीबों, आदिवासियों, बालिकाओं और बालकों के सपनों को अम्बानी, अडाणी जैसे उद्योगपतियों को बेच दिया।
यही गुजरात मॉडल आज भारत में दिखता है, क्योंकि मोदी एक नाकाम शासक है। उसका साम्राज्य झूठ पर टिका है। जिस सनातन संस्कृति की भक्त दुहाई देते हैं, उसमें बाल विवाह, लड़कियों की शिक्षा, बोलने, आगे बढ़ने की आज़ादी सभी पर बंदिशें हैं।
घर-परिवार और बाहर सभी जगह औरत एक इस्तेमाल की चीज़ है। नतीज़तन, बलात्कारी समाज मज़बूत हो रहा है। गुजरात में फिर चुनाव हैं। आप फिर गुजरात मॉडल को ही चुनियेगा, ताकि राज्य के साथ देश भी रसातल में चला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *