एक महीने में कितना डाटा इस्तेमाल करते हैं आप? इस रिपोर्ट से हुआ खुलासा, 14GB के बाद बेकार जाता है डाटा

नई दिल्ली। सस्ते मोबाइल रिचार्जेज की बात की जाए तो भारत में यह आकड़ा काफी ज्यादा है। लेकिन जितना डाटा यूजर्स को उपलब्ध कराया जाता है क्या उतना डाटा यूजर्स एक महीने में खर्च कर पाते हैं? इसे लेकर एक रिपोर्ट सामने आई है जिसमें बताया गया है कि भारत में प्रति स्मार्टफोन यूजर का औसत ट्रैफिक 2019 में प्रति माह 13GB से बढ़कर 2020 में 14.6GB प्रति माह हो गया है। यह रिपोर्ट एरिक्सन मोबिलिटी ने पेश की है।

औसत तौर पर, भारत में मोबाइल ऑपरेटर्स यूजर्स को 28 दिनों के लिए प्रतिदिन 2GB से 3GB डाटा की पेशकश करते हैं। ऐसे में अगर पूरी वैधता के दौरान देखा जाए तो यह डाटा 56GB से 84GB तक होता है। इसका मतलब यह है कि ज्यादातर यूजर्स दैनिक आधार पर पूरा डाटा खत्म नहीं कर पाते हैं। रिपोर्ट के अनुसार, “भारत में प्रति स्मार्टफोन औसत ट्रैफिक विश्व स्तर पर दूसरे स्थान पर है। यह 2026 में प्रति माह लगभग 40GB तक बढ़ने का अनुमान लगाया जा रहा है।”

एरिक्सन नेअनुमान लगाया है कि वर्ष 2026 के आखिरी तक 5G नेटवर्क भारत में लगभग 26 फीसद मोबाइल सब्सक्रिप्शन को कवर करेगा। इसका अनुमान लगभग 330 मिलियन सब्सक्रिप्शन हैं। 2026 में 66 फीसद मोबाइल सब्सक्रिप्शन को कवर करते हुए 4G मार्केट में अपनी जगह बनाए रखेगा। इस समय माना जा रहा है कि 3G को खत्म कर दिया जाएगा।

 

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है, “भारत में, 4G सब्सक्रिप्शन वर्ष 2020 में 680 मिलियन से बढ़कर 2026 में 830 मिलियन हो जाने का अनुमान है। यह 3 फीसद के CAGR से बढ़ रहा है।” 2020 में, 4G प्रमुख तकनीक बनी रही है जिसमें 61 फीसद मोबाइल सब्सक्रिप्शन शामिल हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि वर्ष 2020 में स्मार्टफोन सब्सक्रिप्शन का आंकड़ा 810 मिलियन था और इसके 7 फीसद CAGR से बढ़ने की उम्मीद है। यह 2026 तक 1.2 बिलियन से ज्यादा हो जाएगा। स्मार्टफोन सब्सक्रिप्शन 2020 में कुल मोबाइल सब्सक्रिप्शन का 72 फीसद था। अनुमान लगाया जा रहा है कि यह वर्ष 2026 तक 98 फीसद हो जाएगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *