एटा कोतवाली सिटी से 2,300 कारतूस हुए गायब, SSP ने दर्ज कराई FIR

एटा सिटी कोतवाली परिसर के मालखाने से अलग-अलग बोर के 2,300 कारतूस गायब हो गए हैं। थाने के हेड मोहर्रिर ने पूरी जानकारी जिले के एसएसपी को दे दी है।

पूरा मामला थाना कोतवाली नगर का है। यहां पिछले 15 वर्षों से ज्यादा समय से अलग-अलग बोर के करीब 2,300 कारतूस गिनती में कम चल रहे हैं। कारतूसों की संख्या कम होने की जानकारी उस समय के अधिकारीयों को हो गई थी। जांच के नाम पर खानापूर्ति करके नौकरशाहों ने मामले को टाल दिया।

हेड मोहर्रिर ने एसएसपी से की शिकायत
वर्ष 2017 में हेड मोहर्रिर विजय सिंह की तैनाती कोतवाली में हुई थी। अधिकारियों ने प्रमुख मुंशी को माल खाने का चार्ज लेने के लिए कहा तो पुलिस कर्मी ने 2,300 कारतूसों के कम होने की शिकायत तत्कालीन एसएसपी से कर दी। एटा पुलिस कप्तान ने तुरंत सीओ देव आनंद को बारीकी से जांच करने के आदेश दे दिए। सीओ ने पूरे प्रकरण की जांच रिपोर्ट एसएसपी को सौंपते हुए बताया कि करतूसों के कम होने का मामला कई वर्ष पुराना है और कोई दोषी स्पष्ट नहीं हो पा रहे हैं। इसके चलते एक बार फिर पूर्व की भांति ही मामला ठंडे बस्ते में चला गया।

एसएसपी ने कराई एफआईआर
एसएसपी एटा उदय शंकर सिंह ने एक बार फिर गुम हुए कारतूसों के प्रकरण को हवा दे दी है। कप्तान ने मामले की गंभीरता को देखते हुए अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी है और इस अपराध की विवेचना प्रभारी अपराध रामावतार सिंह को सौंपते हुए निष्पक्ष जांच के आदेश दिए हैं।

गड़बड़ी पाए जाने पर होगी कार्रवाई: एसएसपी
एसएसपी उदय शंकर सिंह ने बताया कि पूरा मामला 15 वर्षों से लंबित है। प्रकरण ज्यादा पुराना होने के कारण यह साफ नहीं हो पा रहा है कि कारतूसों की संख्या किन कारणों से कम हुई थी। उन्होंने कहा कि अगर किसी कर्मचारी-अधिकारी ने कोई गड़बड़ी की होगी तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *