PHOTOS: ये पांच खिलाड़ी चल गए तो WTC Final में टीम इंडिया की जीत पक्की

लगभग दो साल के दौरान छह सीरीज, 17 मैच खेलकर भारतीय टीम विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची है। अब शुक्रवार की दोपहर जब साउथैम्पटन में खिताबी मुकाबला शुरू होगा तब विराट सेना पूरा जोर लगा देगी। कोहली की टोली फेवरेट मानी जा रही न्यूजीलैंड टीम को कोई मौका नहीं देना चाहेगी। मौसम, पिच भले ही कीवियों के साथ हो, लेकिन अगर भारत के ये पांच तोप आग उगलने लगे तो उन्हें ट्रॉफी उठाने से भी कोई नहीं रोक पाएगा।

विराट कोहली
भले ही कोहली का आखिरी अंतरराष्ट्रीय शतक बांग्लादेश के खिलाफ पिंक बॉल टेस्ट में दो साल पहले आया था, लेकिन एक सीरीज में तीन बार 600 से ज्यादा रन बनाने वाले वह एकमात्र भारतीय बल्लेबाज हैं। विराट का पिछला इंग्लैंड दौरा भी जबरदस्त रहा था, जहां उन्होंने उछाल भरी पिच पर खतरनाक स्विंग गेंदबाजी के आगे पांच मैच की 10 पारियों में दो शतक और तीन अर्धशतक के बूते 593 रन बनाए थे। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के 14 मुकाबलों में भी वह 877 रन पीट चुके हैं। अगर फाइनल में वह पिच पर शुरुआती वक्त गुजार गए तो कम से कम दोहरे शतक की उम्मीद उनसे की ही जा सकती है।

virat wtc

रोहित शर्मा
न्यूजीलैंड के खिलाफ सर्वाधिक टेस्ट एवरेज रखने वाला बल्लेबाज। दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज में पहली बार ओपनिंग का मौका मिला। इन पांच टेस्ट में हिटमैन के बल्ले से 92.66 की औसत से 556 रन निकले। तीन शतक और एक दोहरा शतक भी आया। फिर ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर कुछ अर्धशतक जमाकर विदेश में अपने रिकॉर्ड को भी सुधारा और आलोचकों को करारा जवाब दिया। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में खेले गए 11 मैच की कुल 17 पारियों में 64.37 की शानदार औसत से 1030 रन मारे। अगर नई गेंद से रोहित बच गए तो फिर कीवी बॉलर्स की खैर नहीं।

rohit sharma 1

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में रोहित शर्मा

ऋषभ पंत
इस खब्बू बल्लेबाज के रूप में भारत के पास एक ऐसा ट्रंप कार्ड है, जो किसी भी विपक्षी टीम को बैकफुट पर ला सकता है। लोअर मिडिल ऑर्डर का यह विकेटकीपर बल्लेबाज अपनी बेखौफ शैली के लिए पहचाना जाता है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर इसकी झलक भी देखने को मिली। पंत ने अपनी शानदार बल्लेबाजी से भारत की ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत में अहम भूमिका निभाई थी। 23 वर्षीय इस खिलाड़ी ने 20 टेस्ट मैचों में अब तक 1358 रन बनाए हैं, जिसमें तीन शतक और छह अर्धशतक शामिल है, उनका सर्वोच्च निजी स्कोर नाबाद 159 रन रहा है। इस साल पंत ने 6 टेस्ट मैचों में कुल 515 रन बनाए हैं। इस दौरान उनकी बल्लेबाजी औसत 64 से अधिक की रही है।

rishabh pant wtc

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में ऋषभ पंत

रविचंद्रन अश्विन
यहां फाइनल के साथ-साथ भारत के पास 21वीं सदी में 100वां टेस्ट मैच जीतने का भी मौका होगा। अनुभवी स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की फिरकी अगर हमेशा की तरह फिर चल जाए तो कोहली का काम आसान हो जाएगा। वैसे भी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में अश्विन सर्वाधिक विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज हैं, उन्होंने इस दौरान 13 मैच में 67 विकेट चटकाए हैं। रोज बाउल की जिस पर यह मैच होना है, वहां बजरी का भी इस्तेमाल किया गया है। अगर धूप से पट्टी थोड़ी भी रूखी होती है तो गेंद टर्न करेगी और अश्विन अपने जोड़ीदार जडेजा के साथ चौथे-पांचवें दिन कहर ढा सकते हैं। कीवि बल्लेबाजों के लिए उन्हें समझना गणित के किसी कठिन सवाल से कम नहीं होगा।

ravichandran ashwin in wtc

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में रविचंद्रन अश्विन

जसप्रीत बुमराह
भारतीय पेस आक्रमण के अगुवा जस्सी ही होंगे। भले ही टीम में उनसे अनुभवी पेसर्स हैं, लेकिन उतना प्रभावी नहीं। महज 19 टेस्ट पुराने इस पेसर के नाम 83 विकेट दर्ज हैं। पांच बार पांच विकेट झटकने वाले इस खिलाड़ी की औसत 22.11 और स्ट्राइक रेट 49.1 है। न्यूजीलैंड के खिलाफ उन्होंने दो टेस्ट में छह विकेट चटकाए हैं। इंग्लैंड में तीन मैच में एक फाइफर के साथ 14 उन्हें और खतरनाक बनाता है। बुमराह ने वेस्टइंडीज के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप साइकिल की पहली टेस्ट हैट्रिक ली थी। बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी में मोहम्मद शमी और ईशांत की गैरमौजूदगी में उन्होंने युवा गेंदबाजों के साथ भारतीय आक्रमण का बखूबी नेतृत्व किया था।

jasprit bumrah in wtc

wtc में जसप्रीत बुमराह

Indian cricket team strength in wtc final

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए भारत के ट्रंप कार्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *