शेफाली वर्मा ने रचा इतिहास, बनीं टेस्ट डेब्यू में सर्वाधिक रन बनाने वाली महिला भारतीय

म्हारी छोरियां, छोरों से कम हैं के! बॉलीवुड का यह डायलॉग भले ही महिला पहलवानों के लिए लिखा गया हो, लेकिन क्रिकेट के मैदान पर भी यह फिट बैठ रहा है। शुक्रवार से टीम इंडिया को इंग्लैंड के साउथैम्पटन में न्यूजीलैंड के खिलफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलना है, लेकिन भारतीय महिला क्रिकेट टीम का मिशन इंग्लैंड 16 जून से ही शुरू हो चुका है।


शेफाली वर्मा ने रचा इतिहास

इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच के दूसरी दिन गुरुवार को शेफाली वर्मा ने इतिहास रच दिया। हरियाणा से आने वाली इस 17 वर्षीय आक्रामक ओपनर ने 96 रन की ताबड़तोड़ पारी खेली। वह सिर्फ चार रन से अपने शतक से चूक गईं, इसी के साथ युवा वर्मा भारत की ओर से टेस्ट डेब्यू में सर्वाधिक रन बनाने वाली बल्लेबाज बन गईं। शेफाली के अलावा स्मृति मंधाना (78) ने भी फिफ्टी ठोकी।

अच्छी शुरुआत के बाद बिखरी टीम

इंग्लैंड के खिलाफ शानदार शुरुआत के बावजूद, तीसरे सत्र के अंत में पांच विकेट गंवाकर पहली पारी में भारत ने 187 रन बना लिए हैं। शेफाली और मंधाना ने 48.5 ओवर में पहले विकेट के लिए 167 रन की शानदार साझेदारी कर भारत को बेहतरीन शुरूआत कराई, लेकिन शेफाली के आउट होने के बाद विकेट गिरने का सिलसिला शुरू हुआ और टीम ने महज 16 रन के अंदर पांच विकेट खो दिए।

कप्तान हरमनप्रीत कौर से उम्मीद
शेफाली और मंधाना के आउट होने के बाद शिखा पांडे, कप्तान मिताली राज और पूनम राउत सस्ते में पवेलियन लौट गयीं। टीम ने 167 रन पर शेफाली के रूप में पहला विकेट खोया जिसके बाद 183 रन तक पांच विकेट गिर गए थे। दिन का खेल समाप्त होने तक हरमनप्रीत कौर चार रन बनाकर खेल रही थीं जबकि दूसरे छोर पर दीप्ति शर्मा ने खाता भी नहीं खोला था।

हमेशा की तरह आक्रामक रहीं शेफाली
युवा बल्लेबाज अपनी ही शैली में कट और पुल शॉट लगा रही थी। इस 17 साल की खिलाड़ी ने सिर्फ डिफेंस ही अच्छा नहीं किया बल्कि आसानी से नैट स्किवर पर एक छक्का भी जमाया। टेस्ट क्रिकेट में यह भारतीय महिला टीम का दूसरा ही छक्का था। मंधाना सतर्क होकर खेल रही थी, लेकिन फिर भी तेज थीं। उन्होंने स्किवर पर कवर क्षेत्र की ओर अपना पहला चौका जमाया। जब भी उन्हें मौका मिला, वह पुल शॉट खेलने में हिचकिचाई नहीं। उनकी ड्राइव्स देखना अच्छा था। आउट होने से पहले 13 चौके और दो छक्के लगाए। मंधाना इसके बाद स्किवर का शिकार बनीं, उन्होंने अपनी पारी में 14 चौके जमाए।

इंग्लैंड ने बनाए 396 रन
इंग्लैंड ने इससे पहले नौ विकेट पर 396 रन पर पहली पारी घोषित की जो भारत के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया सबसे बड़ा स्कोर है। इससे भारतीय टीम पहली पारी 209 रन से पिछड़ रही है। भारतीय गेंदबाजों को लगातार दूसरे दिन मशक्कत करनी पड़ी। इंग्लैंड ने छह विकेट पर 269 रन से आगे खेलना शुरू किया जिसके बाद पदार्पण कर रही सोफिया डंकले (नाबाद 74 रन) ने नाबाद अर्धशतक के अलावा पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ दो अहम साझेदारियां निभाई।

(एजेंसी से इनपुट के साथ)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *