IND vs NZ WTC Final Preview: साउथम्पटन में खेला जाएगा महामुकाबला, न्यूजीलैंड पर इसलिए भारी कोहली की टीम

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के खिताबी मुकाबले के लिए प्लेइंग-XI का ऐलान कर दिया है। इसके साथ ही महामुकाबले की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। कुछ ही घंटे बाद टीम इंडिया और न्यूजीलैंड साउथम्पटन में एक-दूसरे के सामने होंगे। पहली बार इस टूर्नामेंट का आयोजन हो रहा है और विनिंग टीम इतिहास में अपना नाम दर्ज करा लेगी।

खिताबी जीत के बाद विनिंग टीम को गदा और 16 लाख डॉलर इनामी राशि भी मिलेगी। न्यूजीलैंड ने हाल ही में इंग्लैंड को उसके घर में दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 से हराया था। भारत को हालांकि, फाइनल मैच से पहले यहां मैच अभ्यास का भी अवसर नहीं मिला। कोहली की सेना इस मैच में इंग्लैंड में अपने पुराने अनुभव के साथ उतरेगी। भारत ने डब्ल्यूटीसी पीरियड में न्यूजीलैंड के साथ पिछले साल की शुरुआत में टेस्ट सीरीज खेली थी जहां उसे 0-2 से पराजय का सामना करना पड़ा था।

भारत ने खेला है सबसे बड़ा दांव
हैम्पशायर बाउल की पिच का इतिहास रहा है कि यहां की पिच स्पिनरों की मदद करती है। इसे देखते हुए भारत ने इस मैच में रविंद्र जडेजा और रविचंद्र अश्विन को उतारा है। पिच जैसी भी हो भारत बल्ले या गेंद से अच्छी शुरुआत करना चाहेगा। टीम में दो स्पिनरों के अलावा 3 तेज गेंदबाज सहित कुल 5 बोलर हैं। तेज गेंदबाजी आक्रमण जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी के पास है।

ड्यूक्स गेंद ढा सकती है कहर
ड्यूक्स गेंद जो कूकाबूरा की तुलना में इंग्लैंड में सारे दिन स्विंग करती है, उससे कीवी गेंदबाजों को भारत के खिलाफ फायदा मिल सकता है जिसने एक भी अभ्यास मैच नहीं खेला है। रोहित शर्मा और शुभमन गिल भारतीय पारी की शुरुआत करेंगे और इन दोनों खिलाड़ियों पर टीम को मजबूत शुरुआत दिलाने की जिम्मेदारी होगी। लेकिन यह दोनों खिलाड़ी इंग्लैंड में टेस्ट में साथ में नहीं उतरे हैं। रोहित ने 2014 में सिर्फ एक बार इंग्लैंड में एक टेस्ट खेला था जबकि शुभमन पहली बार यहां टेस्ट मैच खेलेंगे।

न्यूजीलैंड की तेज गेंदबाजी भी दमदार
कीवी टीम के अलावा भारत के पास भी अच्छा तेज गेंदबाजी आक्रमण है जिनके पास इंग्लैंड में खेलने का अनुभव भी है। स्पिन विभाग में टीम इंडिया न्यूजीलैंड की तुलना में कही ज्यादा आगे है। ऐसे में देखना होगा कि विराट कोहली ऐंड कंपनी ट्रेंट बोल्ट और टिम साउदी की कहर बरपाती गेंदों से कैसे बचते हैं। हालांकि, कोहली की कप्तानी वाली टीम में चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत जैसे अन्य धांसू बल्लेबाज भी हैं, जो किसी भी लाइन-अप को तहस-नहस कर सकते हैं।

 

विराट vs विलियमसन
एक तरफ कोहली जहां आक्रामक हैं तो वहीं न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन रिजर्व रहते हैं और अपनी भावनाओं को प्रकट नहीं करते हैं। विलियमसन का सबसे बड़ा हथियार उनका संयम है और वह खिलाड़ियों को खुलकर खेलने की आजादी देते हैं।

भारत vs न्यूजीलैंड
भारत और न्यूजीलैंड के बीच अबतक 59 टेस्ट मुकाबले खेले गए हैं जिसमें भारत ने 21 जीते हैं और उसे 12 मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा है। हालांकि, भारत ने कीवी टीम के खिलाफ 16 मुकाबले घर में जीते हैं। न्यूजीलैंड में भारत ने 25 टेस्ट खेले हैं जिसमें से 10 में उसे हार मिली है और पांच मुकाबले उसने जीते हैं। दोनों टीमों के बीच खिताबी मुकाबला तटस्थ स्थल पर खेला जाना है।

भारत (प्लेइंग-XI): विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), ऋषभ पंत, रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी
न्यूजीलैंड (संभावित): केन विलियमसन (कप्तान), टॉम ब्लंडेल, ट्रेंट बोल्ट, डेवोन कॉनवे, कॉलिन डी ग्रैंडहोम, मैट हेनरी, काइल जैमिसन, टॉम लाथम, हेनरी निकोलस, एजाज पटेल, टिम साउदी, रॉस टेलर, नील वेगनर, बीजे वाटलिंग और विल यंग।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *