Ghaziabad News: गाजियाबाद पिटाई मामला, फेसबुक पर विवादित पोस्ट करने वालों की तलाश शुरू, ट्विटर को 7 दिन में देना होगा जवाब

ट्विटर के बाद अब गाजियाबाद पुलिस की नजर फेसबुक पर विवादित पोस्ट करने वालों पर है। पुलिस ने लोनी बॉर्डर क्षेत्र में बुजुर्ग अब्दुल समद से मारपीट मामले के संबंध में फेसबुक पर विवादित पोस्ट करने वालों की भी सूची मांगी।बुजुर्ग के साथ मारपीट के मामले में ट्विटर को गाजियाबाद पुलिस नोटिस दे दी है, जिसका जवाब 7 दिन के अंदर देना है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर उसे सांप्रदायिक रंग देने वाले 7 अन्य आरोपियों को भी नोटिस भेजने की तैयारी की गई है।

फेसबुक से पूछेगी पुलिस कि किसने शेयर किए विवादित पोस्ट
फेसबुक पर सपा नेता उम्मेद पहलवान इदरिश के वीडियो शेयर मामले में दर्ज मुकदमे में एसआई ने फेसबुक की लापरवाही की बात लिखी थी। इसके बाद अब फेसबुक पर एक्शन तो नहीं लेकिन नियम के अनुसार पोस्ट करने वालों की डिटेल मांगने की तैयारी कर रही है। फेसबुक पर भी कई लोगों ने 5 जून के वीडियो को साम्प्रदायिक रंग देकर शेयर किया था।

सपा नेता की तलाश की जारी

सपा नेता उम्मेद मुकदमा दर्ज होने के बाद से फरार है। उम्मेद ने सोशल मीडिया के साथ कुछ अन्य प्लैटफॉर्म पर अपने ऊपर दर्ज मुकदमे पर सवाल उठाए थे। यहां तक की फरार होने की बात से इनकार करते हुए पुलिस ऑफिस आने की बात कही थी। हालांकि ऐसा हुआ नहीं। पुलिस की टीमें उसकी तलाश में दबिश दे रही हैं। उम्मेद ने ही सबसे पहले अब्दुल समद के मामले को सांप्रदायिक रंग देते हुए फेसबुक लाइव किया था। इसके बाद यह मामला दूसरे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर वायरल हो गया था।

ट्विटर एमडी को सात दिन में देना होगा जवाब
मामले में पुलिस की तरफ से गुरुवार को ट्विटर इंडिया के एमडी मनीष माहेश्वरी को नोटिस जारी किया गया है। एसपी देहात ईरज राजा ने बताया कि एफआईआर में शामिल अन्य को भी नोटिस जारी किया जा रहा है। नोटिस मेल के साथ-साथ पोस्ट भी किया गया है। नोटिस मिलने के सात दिन के अंदर थाने आकर बयान देने होंगे।

एसपी देहात ने बताया कि बुजुर्ग से हमले के मामले में लगभग सभी को गिरफ्तार किया जा चुका है। अगर कोई और नाम सामने आता है तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि बुजुर्ग से मारपीट के बाद उसे सांप्रदायिक रंग दिया गया था। पुलिस की जांच में ताबीज को लेकर मारपीट की बात सामने आई थी।

मारपीट के मुख्य आरोपी प्रवेश को मिली जमानत
5 जून को अब्दुल समद के साथ मारपीट के मुख्य आरोपी प्रवेश गुर्जर को जमानत मिल गई। पुलिस के अनुसार रंगदारी मांगने के मामले के कारण अभी जेल में रहेगा। एसपी देहात ने बताया कि उसे मारपीट मामले में जमानत मिली है। पुलिस उसे पीसीआर पर लेगी। इसके लिए तैयारी की गई है। प्रवेश की गिरफ्तारी इंतजार से रंगदारी मांगने में हुई थी। इसके बाद बुजुर्ग से मारपीट का वीडियो सामने आने के बाद उसका नाम इसमें आया और मारपीट की बात सामने आई।

Image representative

सांकेतिक तस्वीर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *