New Noida Planning: गुजरात के धोलेरा मॉडल पर बसाया जाएगा न्यू नोएडा, ज्‍यादा से ज्‍यादा निवेश पर होगा फोकस

योगेश तिवारी, नोएडादादरी से लेकर खुर्जा के बीच न्यू नोएडा को गुजरात के धोलेरा निवेश क्षेत्र की तर्ज पर बसाया जाएगा। दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर के किनारे ही अहमदाबाद से करीब 50 किलोमीटर दूर गुजरात में यह इनवेस्टमेंट रीजन बसाया जा रहा है। इस इनवेस्टमेंट रीजन में काम आगे बढ़ चुका है। इस लिहाज से वहीं के मॉडल पर ही दिल्ली-मुंबई कॉरिडोर के किनारे न्यू नोएडा बसाने की तैयारी है।

न्यू नोएडा में प्लानिंग के केंद्र बिंदु में ज्यादा से ज्यादा निवेश होगा। इसके लिए वर्ल्ड क्लास इंफ्रास्ट्रक्चर को नोएडा अथॉरिटी तैयार करवाएगी। नोएडा अथॉरिटी ने यह ड्राफ्ट और थीम मास्टरप्लान बनाने के लिए चुनी गई एजेंसी स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड ऑर्किटेक्चर (एसपीए) को सौंप दिया है। इसके साथ ही यह उम्मीद जताई है कि एजेंसी अगले 4 महीने में मास्टरप्लान को लेकर अपनी प्रारंभिक रिपोर्ट अथॉरिटी को सौंपे।

यह बोले नोएडा अथॉरिटी के अधिकारी न्यू नोएडा की प्लानिंग पर नोएडा अथॉरिटी के अधिकारियों का कहना है कि यह एक निवेश क्षेत्र (इनेवस्टमेंट रीजन) है। इसलिए इसको विकसित करने का प्लान उसी तर्ज पर ही तैयार करवाया जाएगा। मौजूदा समय में और आने वाले 10 साल में इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट व निवेश के लिए कौन से बुनियादी पहलू ज्यादा डिमांड बढ़ाएंगे यह तलाशा गया है।

इसमें अडवांस इंफ्रास्ट्रक्चर, सुपीरियर कनेक्टिविटी, इंडस्ट्री को स्थायित्व देने वाले प्लेटफॉर्म के हिसाब से प्लानिंग व अन्य बिंदु शामिल हैं। सरल भाषा में कहें तो चौड़ी सड़कें, फास्ट ट्रैफिक प्लानिंग रेल और हवाई कनेक्टिविटी के साथ न्यू नोएडा को उभरते हुए इनवेस्टमेंट रीजन क्षेत्र में एक ब्रैंड के तौर पर स्थापित करना होगा।

ऐसा होने पर यहां ग्लोबल इनवेस्टमेंट की ज्यादा संभावनाएं होंगी। अथॉरिटी अधिकारियों का कहना है कि प्लानिंग शानदार हो इसके लिए विश्व के और भी इनवेस्टमेंट रीजन के कई बिंदुओं को शामिल किया जाएगा। इस इनवेस्टमेंट रीजन को बसाने की तैयारी शासन ने नोएडा अथॉरिटी को दी है। जनवरी में इसका नोटिफिकेशन भी जारी हो चुका है।

पीपीपी मॉडल को भी मिलेगी प्लानिंग में जगहन्यू नोएडा का एरिया बड़ा होने की वजह से नोएडा अथॉरिटी ने यहां का तेजी से विकास कराने के लिए पीपीपी मॉडल भी चुनने का विकल्प रखा हुआ है। इसमें इंडस्ट्रियल टाउनशिप डिवेलपमेंट के लिए निजी कंपनियों को भी आमंत्रित किया जा सकेगा। इस एंगल को भी मास्टरप्लान बनाते समय एजेंसी ध्यान में रखेगी।

न्यू नोएडा का नक्शा तैयार करवा चुकी है अथॉरिटीदादरी से लेकर खुर्जा के बीच 80 गांव की जमीन पर बसने वाले न्यू नोएडा का नक्शा नोएडा अथॉरिटी ने तैयार करा लिया है। नक्शे से न्यू नोएडा का खाका बन गया है। यह भी स्पष्ट हो गया है कि ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के दोनों तरफ न्यू नोएडा का क्षेत्र होगा। दूसरी तरफ भी चार से पांच गांव का रकबा अथॉरिटी ने चिन्हित किया गया है।

यह है धोलेरा इनवेस्टमेंट रीजन का मॉडलअहमदाबाद के पास करीब 920 वर्ग किलोमीटर के पास विकसित हो रहे धोलेरा स्पेशल इनवेस्टमेंट रीजन के प्लानिंग मॉडल में चार स्तंभ प्रमुख हैं। यह वर्ल्ड क्लास इंफ्रास्ट्रक्चर, सस्टेनबिलिटी, सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर, इफीसिएंट गवर्नेंस हैं। यहां अलग-अलग फेज में प्लानिंग के हिसाब से विकास शुरू करवाया गया है। कई विदेशी कंपनियां यहां निवेश के लिए आ भी चुकी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *