विश्व कप में सबसे तेज शतक बनाने वाले बल्लेबाज ने कहा वनडे क्रिकेट को अलविदा

नई दिल्ली। आयरलैड के दिग्गज बल्लेबाज केविन ओ-ब्रायन ने एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया 37 वर्षीय खिलाड़ी ने क्रिकेट आयरलैंड द्वारा जारी एक बयान में कहा, आयरलैंड के लिए लगातर 15 साल खेलने के बाद मुझे लगता है अब वनडे क्रिकेट से दूर होने और संन्यास लेने का यह सही वक्त है। हालांकि केविन टेस्ट और टी-20 इंटरनेशनल खेलते रहेंगे।

विश्व कप का सबसे तेज शतक

भारतीय उपमहाद्वीप में खेले गए 2011 वर्ल्ड कप में केविन ओ ब्रायन ने महज 50 गेंदों में सेंचुरी पीट दी थी। यह आज भी विश्व कप इतिहास का सबसे तेज शतक है। इंग्लैंड के खिलाफ लीग मैच के दौरान उन्होंने अपना आतिशी अंदाज दिखाया था। ओ ब्रायन के 63 गेंदों पर 113 रन के बूते आयरलैंड ने 328 रन का विशाल लक्ष्य का पांच गेंद शेष रहते ही पा लिया था।

37 साल के केविन का टेस्ट करियर छोटा रहा है। उन्होंने 3 टेस्ट खेले, जबकि 51.6 की औसत से 258 रन बनाए। इसमें एक शतक भी शामिल है। उन्होंने 152 वनडे खेलते हुए 29.42 की औसत से 3619 रन बनाए, जबकि दो शतक और 18 अर्धशतक ठोके। उनके नाम टी-20 इंटरनैशनल में भी शतक है। उन्होंने 95 मैचों में 1672 रन बनाए, जिसमें एक शतक के अलावा 3 अर्धशतक भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *