आंखों में गुस्सा, चेहरे पर मुस्कुराहट के साथ अंपायर पर भड़के कोहली फिर वीरू ने लिए मजे

नई दिल्ली। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे दिन उस वक्त नाटकीय घटनाक्रम देखने को मिला, जब बिना न्यूजीलैंड के रिव्यू लिए ही अंपायर्स ने आउट, नॉटआउट की तहकीकात शुरू कर दी। तब भड़के कोहली का चेहरा देखते ही बनता था, लेकिन फिर बाद में मुस्कुराहट के साथ उन्होंने अंपायर्स से बात की। हालांकि थर्ड अंपायर ने भी फैसला उन्हीं के पक्ष में सुनाया। इसके बाद सोशल मीडिया पर अंपायरिंग की जमकर चर्चा भी होने लगी। क्या है पूरा मामला आइए आगे बताते हैं।

बोल्ट की अपील को अंपायर ने ठुकराया
बारिश की वजह से खिताबी मुकाबले का पहला दिन बिना टॉस के ही पूरी तरह धुल गया था। शनिवार को टॉस गंवाकर भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी कर रही है। दोनों ओपनर्स को गंवाने के बाद कोहली अपने उपकप्तान के साथ पारी को संभालने में जुटे थे। तभी 41वें ओवर में पेसर ट्रेंट बोल्ट की जोरदार अपील को अंपायर ने सिरे से नकार दिया। बोलर को पूरा भरोसा था कि लेग साइड की ओर जा रही गेंद बल्ले का बाहरी किनारा, लेकर विकेटकीपर के दस्तानों में समाई है, इससे पहले केन विलियमसन रिव्यू ले पाते टाइम आउट भी हो गया। मगर तभी अंपायर रिचर्ड इलिंगवर्थ ने स्क्वैयर लेग पर खड़े अपने सहयोगी माइकल गॉफ से सलाह मशवरा कर रिव्यू ले लिया।

अचानक लिया रिव्यू
पूरे मामले में उस वक्त असमंजस की स्थिति पैदा हो गई जब कोहली ने अंपायर्स के फैसले पर सवाल उठाए। कोहली को यही लग रहा था कि जब न्यूजीलैंड ने रिव्यू लिया ही नहीं तो फिर थर्ड अंपायर कहां से आ गया। हालांकि रिप्ले में साफ नजर आया कि बल्ले का गेंद से दूर-दूर तक कोई कनेक्शन नहीं था। विराट तो बच गए, लेकिन इसके बाद पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग समेत कई यूजर्स ने ट्विटर पर अंपायर्स को ट्रोल करना शुरू कर दिया। वीरू ने तो अंपायरिंग को मजाक तक बता दिया।

क्या कहते हैं नियम?
नियमों के अनुसार, ऑन-फील्ड अंपायर कैच के बारे में संदेह होने पर ही थर्ड अंपायर से पूछ सकते हैं। हालांकि, वाटलिंग ने गेंद को स्पष्ट रूप से इकट्ठा किया था, एकमात्र संदेह यह था कि क्या कोहली ने इसे निक किया था या नहीं। इससे भ्रम की स्थिति पैदा हो गई, जिसके कारण न्यूजीलैंड ने रिव्यू नहीं लिया और अंपायर ने खुद कॉल लेते हुए टीवी अंपायर से सलाह मांगी।


खराब रोशनी की वजह से दिन का खेल जल्दी खत्म

रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने अनुशासित बल्लेबाजी करके न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को मिल रही स्विंग का शुरू में डटकर सामना किया, लेकिन वे लंबी पारियां खेलने में नाकाम रहे। रोहित शर्मा ने (68 गेंदों पर 34 रन) और शुभमन गिल (64 गेंदों पर 28 रन) स्पष्ट रणनीति के साथ क्रीज पर उतरे थे, लेकिन पहले सत्र के खत्म होते-होते दोनों पवेलियन लौट गए। पुजारा भी 54 गेंद में 8 रन बनाकर चलते बने। कप्तान कोहली 44 और अजिंक्य रहाणे 29 रन बनाकर नाबाद हैं। खराब रोशनी की वजह से दूसरे दिन का खेल जल्दी समाप्त कर दिया गया। स्टंप्स तक भारत ने तीन विकेट खोकर 146 रन बना लिए हैं। कप्तान कोहली 44 और उपकप्तान रहाणे 29 रन बनाकर नाबाद लौटे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *