WTC Final: वसीम जाफर की Virat Kohli और Ajinkya Rahane को सलाह, Ghajani की तरह करो बैटिंग

वसीम जाफर चाहते हैं कि भारतीय कप्तान विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के तीसरे दिन रविवार को ‘गजनी की तरह’ सोच के साथ उतरना चाहिए। जाफर कहना चाहते हैं कि इंग्लैंड में परिस्थितियां गेंदबाजों के मुफीद होती हैं ऐसे में बल्लेबाज को अच्छी गेंदों को भुलाकर सिर्फ उस लम्हे पर ध्यान लगाना चाहिए।

गजनी, एक मशहूर बॉलीवुड फिल्म थी जिसमें मुख्य भूमिका निभाने वाले आमिर खान को एक्यूट शॉर्ट-टर्म मेमोरी लॉस की समस्या होती है। यानी वह कुछ भी 15 मिनट से ज्यादा याद नहीं रख पाते हैं। जाफर ने नोट किया कि कोहली और रहाणे न्यूजीलैंड के गेंदबाजों के सामने कुछ बार चूके लेकिन वे अपनी रणनीति पर कायम रहे और कीवी टीम को कामयाबी हासिल नहीं करने दी।

जाफर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, ‘उनका माइंडसेट गजनी की तरह होना चाहिए क्योंकि पिछली गेंदों को भूलना बहुत जरूरी होता है। इंग्लैंड में अकसर ऐसा होता है कि आप एक शानदार गेंद को खेलते हैं और मिस कर जाते हैं, जैसा हमने विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे के साथ देखा। मुझे लगता है कि आपको ऐसा माइडसेट रखना चाहिए कि आप पिछली गेंद को भूल सकें और अगली पर ध्यान केंद्रित करें।’

भारत को रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने 62 रनों की शुरुआत दी। इसके बाद तीन विकेट जल्दी-जल्दी गिर गए। पर विराट कोहली (44) और अजिंक्य रहाणे (29) ने पारी को संभाला। दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी हो चुकी है।

भारतीय कप्तान काफी नियंत्रण में नजर आ रहे हैं और उपकप्तान भी रंग में हैं। दोनों सेट दिख रहे थे जब दूसरे दिन खराब रोशनी के कारण दिन का खेल जल्दी समाप्त कर दिया गया।

वसीम जाफर ने आगे कहा कि भारत ने मजबूत बल्लेबाजी की। उनका कहना था कि टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करते हुए न्यूजीलैंड की चाहत 4-5 विकेट लेने की रही होगी लेकिन इसके स्थान पर भारत मजबूत नजर आ रहा है।

उन्होंने कहा, ‘भारतीय टीम ने बहुत अच्छा खेल दिखाया। मुझे लगता है कि पहले दिन का खेल समाप्त होने के बाद भारतीय टीम अधिक मजबूत है। आखिर पहले गेंदबाजी चुनने के बाद आप ज्यादा विकेट लेना चाहते हैं। हमने दो अच्छी साझेदारियां देखीं और मैं उम्मीद करता हूं कि विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे बड़ी साझेदारी करें जिसमें मैंच में भारत की स्थिति मजबूत हो सके। अगर भारत इस विकेट पर 275-300 रन बना लेता है तो उनके लिए मैच जीतने के चांस कई गुना बढ़ जाएंगे।’

इसके साथ ही जाफर ने केन विलियमसन से सिर्फ तेज गेंदबाजी आक्रमण के साथ मैदान पर उतरने के फैसले पर हैरानी जताई। जाफर ने कहा कि तेज गेंदबाजों के फुटमार्क से बने पैरों के लिए साउथम्पटन की विकेट पर स्पिनर्स को काफी मदद करेंगे।

पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा, ‘मुझे लगता है कि गेंद इस विकेट पर स्पिन होगी। खास तौर पर जब ट्रेंट बोल्ट और नील वैगनर जैसे बाएं हाथ के तेज गेंदबाजों के फुटमार्क से बनी रफ रविचंद्रन अश्विन के लिए बहुत मददगार होगी। इसी तरह, जो रफ दाएं हाथ के गेंदबाजों ने बनाई है उससे जडेजा को मदद मिलेगी। मुझे बहुत हैरानी है कि केन विलियमसन ने किसी स्पिनर को टीम में शामिल नहीं किया। मेरा मानना है कि अगर भारत ने 300 से ज्यादा रन बना दिए तो वह बहुत मजबूत स्थिति में आ जाएगा क्योंकि उसे इस विकेट पर आखिर में गेंदबाजी करनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *