नई दिल्ली। महिलाओं के साथ लगातार रेप जैसी घिनौनी वारदातों के मामले बढ़ते जा रहे है। आखिर महिलाओं के खिलाफ ऐसे बर्बर मामलों पर अंकुश क्यों नहीं लग पा रहा है? इस सवाल पर सरकारों और समाजशास्त्रियों के नजरिए में अंतर है।

मुश्किल यह है कि सरकारें या पुलिस प्रशासन ऐसे मामलों में कभी अपनी खामी कबूल नहीं करते। इसके अलावा इन घटनाओं के बाद होने वाली राजनीति और लीपापोती की कोशिशों से भी समस्या की मूल वजह हाशिए पर चली जाती है। लेकिन अभी भी बलात्‍कार की वारदातें बदस्‍तूर जारी हैं। आखिर हमारे समाज में यौन हिंसा जैसे घिनौने अपराध होते ही क्यों है? जैसे-जैसे हमारा समाज अधिक शीक्षित और प्रगतिशील होता जा रहा है, वैसे-वैसे ही समाज में महिलाओं के यौन उत्पीड़न के मामले भी बढ़ते जा रहे हैं।

दिल्ली के छावनी इलाके में स्थित एक श्मशान गृह में सेना के दो जवानों ने दो महिलाओं के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया । पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि वारदात शनिवार को हुयी और दोनों आरोपियों संदीप एवं नीरज को गिरफ्तार कर लिया गया है । पुलिस के अनुसार मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि अपराध प्रक्रिया संहिता की धारा 164 के तहत महिलाओं के बयान दर्ज किए जाएंगे।

पीड़ित महिलाएं आपस में सगी बहनें हैं। उनका आरोप है कि उन्हें डरा-धमकाकर एक श्मशान घाट के अंदर ले जाया गया जहां उनके साथ छेड़छाड़ और रेप किया गया। शिकायत मिलने पर पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस से जुड़े सूत्रों का कहना है कि पुलिस दो सगी बहनों द्वारा लगाए गए रेप के आरोपों की गंभीरता से जांच करा रही है।

साथ ही यह भी पता लगाने का प्रयास कर रही है कि वारदात श्मशान घाट के अंदर हुआ या बाहर। बताया जा रहा है कि पीड़िता ने जिस श्मशान घाट का जिक्र किया है वो दिल्ली कैंट थाना क्षेत्र के सागरपुर के पास पड़ता है। महिलाओं ने अपनी शिकायत में कहा कि श्मशान घाट परिसर में जहां लकड़ियां रखी होती हैं, वहां आरोपियों ने डरा-धमका कर उनके साथ रेप किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *