कौन थे मार्टिन क्रोव, WTC FINAL जीतकर विलियमसन ने पूरा किया जिनका सपना

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का खिताब जीतने के साथ ही पूर्व कीवी बल्लेबाज मार्टिन क्रोव के आईसीसी टूर्नामेंट जीतने का सपना पूरा कर दिया। 2015 वनडे विश्व कप फाइनल के दौरान बीमार क्रोव चाहते थे कि न्यूजीलैंड की टीम आईसीसी टूर्नामेंट का खिताब जीते।

न्यूजीलैंड ने 2000 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती थी। न्यूजीलैंड को हालांकि 2015 के फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। इसके एक साल बाद क्रोव का निधन हो गया था। न्यूजीलैंड इसके बाद 2019 विश्व कप के भी फाइनल में पहुंची जहां उसे बाउंड्री काउंट के हिसाब से इंग्लैंड के हाथों पराजय झेलनी पड़ी।

विलियमसन ने मैच के बाद कहा, ‘यह बहुत विशेष अवसर है और शानदार एहसास है। हम इससे पहले भी कई बार फाइनल में पहुंचे हैं। 2015 में हमें एकतरफा मुकाबले में हार मिली थी जबकि 2019 का मुकाबला दिलचस्प था, लेकिन यह एहसास उससे अलग है जो शानदार है।’

विलियमसन इस सदी के चार सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक हैं। विलियमसन ने कहा, ‘2019 का अवसर अच्छा था और बेहतरीन क्रिकेट का खेल हुआ। लेकिन जाहिर है कि वो अलग एहसास था। पहला डब्ल्यूटीसी फाइनल का खिताब जीतना वाकई बेहद अच्छा एहसास है।’ फाइनल से पहले भारत इस खिताब का प्रबल दावेदार माना जा रहा था क्योंकि उसने विदेश में ज्यादा सीरीज जीती है।

विलियमसन ने कहा, ‘मेरे ख्याल से हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि टीम में हमेशा स्टार खिलाड़ी नहीं रह सकते। हमने हर मैच में अपना सबकुछ दिया और प्रतिस्पर्धी बने रहे। हमारे लिए यह जरूरी था कि हम अपने क्रिकेट के स्टाइल पर प्रतिबद्ध रहें और हमने ऐसा किया। हमें पता था कि भारतीय टीम कितनी मजबूत है। हमने लंबे समय तक यह देखा है।’

कौन थे मार्टिन क्रोव
फरवरी 2014 तब मार्टिन न्यूजीलैंड के उच्चतम रन (299) स्कोरर थे। हाल ही में संन्यास लेने वाले ब्रैंडम मैकुलम ने 302 रन बनाकर उन्होंने पछाड़ा। 1985 में इस धाकड़ बल्लेबाज को विजडन क्रिकेटर ऑफ द ईयर से नवाजा गया था। 1992 में रंगीन कपड़ों के साथ खेले गए पहले विश्व कप में मार्टिन क्रो ही थे, जिन्होंने न्यूजीलैंड को सेमीफाइनल तक का सफर तय करवाया। हाइएस्ट रन स्कोरर को मैन ऑफ द टूर्नामेंट से नवाजा गया था। आईपीएल में आरसीबी के सीईओ भी रह चुके थे। 53 साल की उम्र में साल 2016 में कैंसर पीड़ित इस पूर्व क्रिकेटर का देहांत हो गया।

(एजेंसी से इनपुट के साथ)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *