रोहतक। रोहतक में सरकारी नौकरी की चाहत में कई युवा ठगी का शिकार हो चुके हैं और लाखों गवां चुके हैं। अब फिर एक और रेलवे में नौकरी लगवाने का झांसा देकर लाखों की ठगी हो सामने आई हैं। मेडिकल स्टोर करने वाले दो लोगों ने रेलवे में नौकरी का झांसा देकर कई युवकों से मोटी रकम ठग ली।

नौकरी नहीं लगने पर पीड़ितों ने अपनी रकम वापस मांगी, जिस पर आरोपितों ने रुपये देने से साफ मना कर दिया। पुलिस को दी गई शिकायत में फरमाणा बादशाहपुर निवासी संदीप ने बताया कि उसकी मुलाकात करीब तीन साल पहले रोहतक में मेडिकल स्टोर चलाने वाले विकास और दिवाकर से हुई। कुछ दिनों तक बातचीत होने पर उन्होंने बताया कि सरकार में उनकी अच्छी जान-पहचान है। अगर किसी की नौकरी लगवानी है तो वह लगवा सकते हैं।

इसी बीच रेलवे में ग्रुप-डी की भर्ती निकली। पीड़ित संदीप ने अपना फार्म भर दिया। कुछ दिन बाद भर्ती के एडमिट कार्ड रेलवे की तरफ से जारी कर दिए गए। दोनों आरोपितों ने झांसा दिया कि साढ़े सात लाख रुपये में नौकरी लगवा देंगे। पीड़ित ने ढाई लाख रुपये उनके खाते में डाल दिए। इसके बाद ढाई लाख रुपये उन्हें कैश दे दिए गए। आरोपितों ने नौकरी के नाम पर निंदाना निवासी सतीश से भी छह लाख रुपये, भैणी मातो के रहने वाले राममेहर से छह लाख रुपये और हिसार जिले के पुट्ठी गांव निवासी सत्यवान से भी छह लाख रुपये ले लिए। इसके कुछ दिन बाद फाइनल लिस्ट जारी हुई।

इसमें संदीप का नाम ही नहीं था। पीड़ित ने दोनों आरोपितों से संपर्क किया, लेकिन वह बार-बार झांसा देते रहे कि रुपये वापस दे देंगे। आखिर में आरोपितों ने रुपये देने से मना कर दिया। अब पीड़ित की शिकायत पर महम थाना पुलिस ने दोनों आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। गौरतलब है कि करीब दो साल पहले भी रेलवे में नौकरी के नाम पर कलानौर थाना क्षेत्र के रहने वाले कई युवकों से ठगों ने मोटी रकम ठग ली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *