साउथैम्प्टन के मैदान पर टीम इंडिया की पिछले दो सालों की मेहनत बेकार हो गई, विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया को 8 विकेट से हार का मुंह देखना पड़ा, न्यूजीलैंड ने उसे खिताबी मुकाबले में हरा दिया, भारतीय टीम ने पिछले दो सालों से शानदार प्रदर्शन कर अंक तालिका में नंबर एक स्थान हासिल किया, वो फाइनल जीतने की बड़ी दावेदार भी थी, लेकिन हमेशा की तरह अंतिम मौके पर उसके दिग्गज खिलाड़ियों ने निराश किया

विराट कोहली
कप्तान कोहली को टीम की हार का पहला गुनहगार कहना गलत नहीं होगा, विराट कोहली ने प्लेइंग इलेवन चुनने में और बल्लेबाजी में गलतियां कर भारत को जीत से दूर कर दिया, विराट ने हरी पिच पर 2 स्पिनर उतारे, जडेजा और अश्विन में से एक अतिरिक्त बल्लेबाज या मोहम्मद सिराज को मौका मिल सकता था, लेकिन विराट अपनी रणनीति पर कायम रहे, इसके बाद बतौर बल्लेबाज भी विराट कोहली फ्लॉप साबित हुए, पहली पारी में 44 रन बनाये, लेकिन उनकी बल्लेबाजी मे वो बात नजर नहीं आई, उन्हें कई बार जेमिसन ने परेशान किया, उन्होने ही विराट को आउट किया। दूसरी पारी में विराट से बड़ी पारी की उम्मीद थी, लेकिन वो सिर्फ 13 रन ही बना सके।

रोहित शर्मा
रोहित शर्मा ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन खिताबी मुकाबले में रोहित अच्छी शुरुआत के बावजूद बड़ी पारी नहीं खेल सके, रोहित ने पहली पारी में 34 और दूसरी पारी में 30 रन बनाये, मुश्किल समय में उन्होने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन जब क्रीज पर सेट हो गये, तो उन्होने अपना विकेट गंवा दिया, नतीजा टीम को हार झेलनी पड़ी।

चेतेश्वर पुजारा
पुजारा ने फाइनल में ही नहीं बल्कि पूरे टूर्नामेंट में ही निराश किया, फाइनल की बात करें, तो पहली पारी में 8 और दूसरी पारी में 15 रन बनाकर आउट हुए, चेतेश्वर कभी भी क्रीज पर जमे हुए नजर नहीं आये, नतीजा उनके साथ खेल रहे बल्लेबाजों पर दबाव बना, इसके अलावा उन्होने न्यूजीलैंड के अनुभवी बल्लेबाज रॉस टेलर का भी कैच टपकाया, अहम मौके पर ये कैच छूटना टीम इंडिया के खिलाफ गया, पुजारा ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में 18 मैचों में सिर्फ 28.03 के औसत से 841 रन बनाये।

ऋषभ पंत
पंत ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में शानदार प्रदर्शन किया, लेकिन फाइनल में उनकी वही कमी उभर कर आई, जिसके लिये अकसर उनकी आलोचना की जाती है, पंत ने फाइनल की दोनों पारियों में अपना विकेट बेहद ही खराब शॉट खेलकर गंवाया, पहली पारी में उन्होने जेमिसन की पांचवें स्टंप की गेंद को छेड़ा, जिसकी वजह से वो स्लिप में आउट हुए, वहीं दूसरी पारी में पंत ने 41 रन बनाये और एक बार फिर खराब शॉट खेलकर आउट हुए, पंत के आउट होते ही भारत का लोअर ऑर्डर पूरी तरह से बिखर गया।

जसप्रीत बुमराह
जसप्रीत बुमराह को भारत का सबसे बड़ा स्ट्राइक गेंदबाज माना जाता है, लेकिन दायें हाथ के इस गेंदबाज ने बुरी तरह से निराश किया, बुमराह फाइनल में विकेट के लिये तरसते रहे, वो सही लाइन-लेंग्थ हासिल नहीं कर सके, जिसकी वजह से न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने क्रीज पर सेट होने का मौका मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *