नई दिल्ली। कहते है कि प्यार एक एहसास है जिसे शब्दों में बयाँ नहीं किया जा सकता सिर्फ महसूस किया जा सकता है और ये एहसास दुनिया के सभी लड़का-लड़की के अन्दर तभी से आना शुरू हो जाता है जब वो अपने किशोरावस्था में कदम रखता है। दिल्ली की उस प्रेमी युगल के लिए तो यह आग का दरिया ही साबित हुआ है जिसे गोलियों का सामना करना पड़ा है। देश की राजधानी के अमराई इलाके में चली गोलियों ने युवक की जान ले ली है जबकि उसकी प्रेमिका एक गोली खाकर बची है। मामले में लड़की के पिता को हिरासत में लिया गया है।

मामला गुरुवार का है जब रात विनय और किरण के घर पर छह-सात लोग आए। उनके यहां चाय पी, पनीर मंगवाया और फिर गोलियां बरसाने लगे। अचानक चली गोलियों से दोनों हक्का-बक्का रह गए। थोड़ी देर पहले हाल-चाल पूछने वाले अचानक जान लेने पर उतारू हो गए तो विनय और किरण दौड़ पड़े। वो जान चुके थे कि ये लोग उन्हें घर से भागकर शादी करने की सजा देने आए हैं।

डीसीपी द्वारका संतोष मीणा ने बताया कि गुरुवार रात अमराई में गोली चलने की जानकारी मिली थी। लड़के को 4 गोलियां लगी थीं, जबकि लड़की को एक गोली लगी। वहीं, पड़ोसियों ने बताया कि जब हमलावरों ने गोली चलाई तो लड़की जान बचाकर छत पर भागी और अपनी बिल्डिंग के छत से बगल वाली बिल्डिंग के छत पर कूद गई। वहां पर एक महिला थी, जिससे जाकर लड़की लिपट गई और दहाड़ मारते बोली, ‘दीदी, मेरी जान बचा लो।’ महिला तुरंत लड़की को नीचे ले गई। फिर उसने पुलिस को सूचना दी। लड़की को एक गोली लगी थी और खुशकिस्मत रही कि जान बच गई।

हालांकि, उसका पति विनय फायरिंग होते ही नीचे की तरफ भागा, इस दौरान उसे चार गोलियां लग गईं। उसे हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। पता चला कि गोली मारने से पहले हमलावर लड़का-लड़की के कमरे में पहुंचे वहां पर चाय भी पी, फिर पनीर भी मंगाया। जैसे ही पनीर खाने के लिए शुरुआत हुई उन्होंने फिर पिस्टल निकालकर गोलियां चलानी शुरू कर दी।

पुलिस के मुताबिक, किरण के परिवार वाले विनय के साथ उसके लगाव से काफी नाराज थे। जब विवाह की बात आई तब तो जैसे आसमान ही टूट पड़ा। परिवार वाले ने दोनों का गोत्र एक होने का हवाला देकर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दे डाली। वो धमकी सच साबित हुई। विनीत अब इस दुनिया में नहीं है। उसे चार गोलियां लगी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *