Hamirpur News: कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने को तैयार हमीरपुर जिला, ये है खास प्लान

हमीरपुर: कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए हमीरपुर में स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी पूरी कर ली है। जिले में चार ग्रामीण स्वास्थ्य केन्द्रों में पीकू वार्ड बनाए जाने का फैसला भी किया गया है। प्रत्येक पीकू वार्ड में दस-दस बेड और वेंटिलेटर की व्यवस्था की जाएगी।

देश में कोरोना महामारी ने आम लोगों को बुरी तरह से प्रभावित किया है। कोरोना की दूसरी लहर में हमीरपुर जिले में आधिकारिक तौर पर सौ से अधिक लोगों की मौत हुई है। वहीं, 52,010 लोग भी संक्रमित हुए थे। कोरोना की दूसरी लहर से अभी देश उबर भी नहीं पाया कि अब तीसरी लहर से बच्चों के प्रभावित होने की आशंका विशेषज्ञ जता रहे हैं। शासन से आए निर्देश के बाद यहां स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए अब तैयारी शुरू कर दी है।

पीकू वार्डों में बाल रोग विशेषज्ञों की होगी तैनाती
हमीरपुर के सीएमओ डॉ. आरके सचान ने बताया कि जिले में छानी, नौरंगा, कुरारा और मौदहा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में एक-एक पीकू वार्ड बनाए जाएंगे। दस-दस बेड के पीकू वार्डों में दो-दो वेंटिलेटर और अन्य जरूरी उपकरणों की व्यवस्था की जाएगी। शासन से पीकू वार्डों के लिए आवश्यक उपकरणों की आपूर्ति जल्द होगी। बताया कि पीकू वार्ड में बाल रोग विशेषज्ञों और चिकित्सीय कर्मियों की भी तैनाती शासन से होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद अब लोगों को पहले से ज्यादा ही सतर्क रहना चाहिए।

पीकू वार्ड में 15 साल की उम्र तक के बच्चे बीमार होने पर होंगे भर्ती
बाल रोग विशेषज्ञ एवं पीकू वार्ड के नोडल अधिकारी डॉ. आशुतोष निरंजन ने बताया कि जिले में चिह्नित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों में पीकू वार्ड बनाए जाने की तैयारी पूरी हो गई है। वार्ड बनाने का काम भी तेजी से कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पीकू वार्ड में गंभीर रूप से बीमार एक माह से 15 साल की उम्र तक के बच्चों को भर्ती किया जाएगा। जिला महिला हास्पिटल के एसएनसीयू के डॉ. सुमित सचान ने बताया कि पीकू वार्ड सामान्य वार्डों से अलग बनेंगे। इन वार्डों में वेंटिलेटर, बाईपेप, इन्फ्यूजन पंप, एबीजी मशीनों की भी जरूरत होगी।

कोविड एल-1 में 15 बेड का पीकू वार्ड तैयार, दवाएं भी आई
एसीएमओ एवं कोविड एल-1 कुरारा के प्रभारी डॉ. पीके सिंह ने बताया कि शासन से हर जिले में चार-चार सीएचसी में पीकू वार्ड बनाने के निर्देश हैं, जिसमें यहां भी चार पीकू वार्ड बनाए जा रहे हैं। 15 बेड का पीकू वार्ड बनकर तैयार हो गया है। जीरो से पांच वर्ष तथा पांच से पन्द्रह वर्ष के बच्चों के लिए कोरोना की दवाओं की किट भी आ चुकी है। पीकू वार्ड में वेंटिलेटर तथा बच्चों के लिए मास्क और अन्य जरूरी उपकरणों की खेप एक दो दिन में आ जाएगी। बाल रोग विशेषज्ञ और पैरा मेडिकल स्टाफ की भी तैनाती होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *