पावरफुल बीसीसीआई इंग्लैंड में नहीं कर पाया टीम की मदद, भारत को नहीं मिला कोई प्रैक्टिस मैच

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) को सबसे पावरफुल और दुनिया का अमीर बोर्ड माना जाता है। इसके बावजूद वह इंग्लैंड में टीम इंडिया के लिए अभ्यास मैच तक सुनिश्चित नहीं करवा सका। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) के फाइनल मुकाबले में टीम इंडिया का बल्लेबाजी क्रम न्यूजीलैंड के गेंदबाजों के सामने ध्वस्त हो गया था और उसकी दूसरी पारी 170 रन पर ही सिमट गई थी।

WTC फाइनल को देखते हुए भारत को क्वॉरंटीन पीरियड में अभ्यास मैच खेलने का मौका नहीं मिला था। भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि वह WTC फाइनल और इंग्लैंड के साथ टेस्ट सीरीज के बीच में काउंटी टीम के खिलाफ मुकाबले खेलना चाहते हैं।

हालांकि, इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने इसकी इजाजत नहीं दी। काउंटी टीमों के खिलाफ मैच नहीं होने पर भारत को इंडिया ए के साथ खेलना था लेकिन कोरोना महामारी के कारण इंडिया ए का दौरा रद्द हो गया था।

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत काउंटी टीमों के खिलाफ अभ्यास मैच खेलेगा। इस पर कोहली ने कहा, ‘यह हमारे ऊपर निर्भर नहीं कर सकता है। हम प्रथम श्रेणी मुकाबले खेलना चाहते थे जो हमें नहीं मिले। मुझे नहीं पता कि इसके पीछे का क्या कारण है।’

भारतीय टीम इंट्रा स्क्वायड मैच अगले महीने से खेल सकती है। भारत के कुछ शीर्ष खिलाड़ी जैसे शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, देवदत्त पडीकल और हार्दिक पांड्या सहित कुछ क्रिकेटर जुलाई में श्रीलंका के साथ होने वाली सीमित ओवरों की सीरीज के लिए व्यस्त हैं और वे इंग्लैंड नहीं जा सकते हैं। ऐसे में टीम उन्हीं खिलाड़ियों के साथ तैयारी करेगी जो इंग्लैंड में मौजूद हैं। मौजूदा स्थिति में इंट्रा स्क्वायड मैच ही एकमात्र तरीका है। कोहली ने कहा, ‘मुझे लगता है कि पहले टेस्ट के लिए तैयार होने में हमारी तैयारियों का समय पर्याप्त है।’

virat-40

विराट कोहली भी प्रैक्टिस मैच न मिलने से निराश थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *