बॉलीवुड एक्‍टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे खूब सुर्खियों में रहे हैं । पूर्व डीजीपी की छवि रॉबिनहुड की रही है, खाकी उतारने के बाद वो कुछ समय राजनीति में भी रहे । लेकिन नेता बने गुप्‍तेश्‍वर पांडे को यहां कुछ खास अवसर नहीं दिखे, जिसके बाद अब वो एक दूसरे ही अवतार में नजर आ रहे हैं । पूर्व डीजीपी ने अब भगवा धारण कर लिया है और वो भगवद्भक्ति के मार्ग पर चल पड़े हैं ।
पिछले कुछ दिनों से गुप्तेश्वर पांडे, बिल्कुल नए अवतार में नजर आ रहे हैं । उन्‍होंने भगवा धारण कर लिया है और अब वो कथावाचक बन गए हैं । 24 जून को ही गुप्तेश्वर पांडे एक निजी श्रीमद् भागवत वचन अमृत कार्यक्रम में कथावाचक के तौर पर नजर आए । इस कार्यक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर भी शेयर हो रहा है । दरअसल इस कार्यक्रम की चर्चा सोशल मीडिया पर कुछ समय पहले से ही हो रही थी, कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सोशल मीडिया पर जो ऑनलाइन निमंत्रण पत्र जारी किए गए थे उनमें पूर्व डीजीपी की तस्वीर लगाई गई थी, इसके अनुसार गुप्तेश्वर पांडे इसमें कथावाचक की भूमिका में थे ।
पिछले साल बिहार विधानसभा चुनाव से ठीक पहले गुप्‍तेश्‍वर पांडे ने डीजीपी के पद से समय से पहले ही रिटायरमेंट ले लिया था और फिर वो राजनीति में कूद पड़े । विधानसभा चुनाव लड़ने के इरादे से उन्होंने जनता दल यूनाइटेड भी ज्‍वॉइन कर ली, लेकिन पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया । निराश हुए तो अब वो अध्यात्म की राह पर हैं । बताया जा रहा है कि आजकल उनका ज्यादातर वक्त बिहार से बाहर ही गुजरता है, वो देश के प्रसिद्ध मंदिरों का दौरा करते हैं और कथा वाचन भी करते हैं ।
पिछले हफ्ते ही गुप्तेश्वर पांडे अयोध्या में नजर आए, यहां वो हनुमानगढ़ी मंदिर के दर्शन करने पहुंचे । अपनी इस यात्रा की तस्वीर भी उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर शेयर की थीं । मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, यहां वो 8 दिनों के लिए रहे और कथा वाचन भी किया । गुप्‍तेश्‍वर पांडे ने मंदिर की तस्‍वीर शेयर करते हुए लिखा- “लोकमंगल और अपने ज्ञान एवं भक्ति की भीख मांगने के लिए हनुमानगढ़ी में अपने इष्ट देव श्री हनुमान जी के दरबार में हाजिरी लगाई । मेरे प्रभु सब को सद्बुद्धि दो और सब का कल्याण करो।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *