नील वैगनर का खुलासा- ऐसा वेलकम कभी नहीं हुआ, पुलिसवाले भी चाहते थे WTC मेस की फोटो

भारत को हराकर विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) का खिताब जीतने वाले न्यूजीलैंड के खिलाड़ी स्वदेश पहुंच गए हैं। हालांकि, महामारी कोरोनावायरस के कारण सामाजिक दूरी को देखते हुए खिलाड़ी एयरपोर्ट से सीधे होटल चले गए जहां वह 14 दिनों तक क्वारंटीन में रहेंगे। एयरपोर्ट पर खिलाड़ी किसी से नहीं मिले। विनिंग टीम के सदस्य नील वैगनर (Neil Wagner) ने बताया कि जब टीम स्वदेश पहुंची तो लोगों का उत्साह देखते बन रहा था।

पुलिसकर्मी और एयरपोर्ट के स्टाफ सहित अन्य लोग थे जो डब्ल्यूटीसी मेस की फोटो लेना चाहते थे। तेज गेंदबाज नील वैगनर ने बाद में मीडिया से कहा, ‘सभी कुछ सामाजिक दूरी का पालन करते हुए हुआ जिस कारण हम लोग किसी से हाथ भी नहीं मिला सके। हमारे पास मेस था और सभी लोग फोटो लेना चाहते थे।’ उन्होंने कहा, ‘यह देखना सुखद था कि कुछ लोग समझ पा रहे थे कि इनके लिए यह क्या है। दूर से ही इन्होंने बधाई दी जो हम सभी के लिए काफी मायने रखता है।’

50 लाख की आबादी वाले देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की ट्रॉफी बहुत वर्षों बाद आई। आखिरी बार न्यूजीलैंड ने 2000 में चैंपियंस ट्रोफी जीती थी। वेग्नर ने कहा, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं कस्टम में जाऊंगा और लोग हमें बधाई देंगे। सभी लोग एक सुर में हमें बधाई दे रहे थे। यह काफी सुखद था और लोग पूछ रहे थे मेस कहां है।’ उन्होंने कहा, ‘पुलिस अधिकारी भी रोक कर दूर से फोटो लेना चाहते थे। सभी के चेहरे पर हंसी देखना काफी अच्छा था।’


मेस बीजे वाटलिंग के होटल के कमरे में रखा है जिन्होंने फाइनल मुकाबले के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था। वाटलिंग ने फाइनल में पांच कैच लपके थे। वेग्नर ने कहा, ‘हमने मेस को प्लेन में शेयर किया और पूरी रात जश्न के दौरान सभी लोगों के पास बारी-बारी से मेस आया।’ उन्होंने कहा, ‘प्लेन में रॉस टेलर ने मुझे इस मेस को बाटलिंग को देने के लिए कहा। वह इसे दो सप्ताह तक आईसोलेशन के दौरान अपने पास रखेंगे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *