शिवाकांत अवस्थी

महराजगंज/रायबरेली: बीएसएनएल की मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं ने क्षेत्र के लगभग 50 हजार उपभोक्ताओं के लिए एक मुसीबत भरी समस्या साबित हो रही हैं। एक ओर जहां बीएसएनएल के मोबाइल से नेटवर्क गायब रहता है, तो वहीं इंटरनेट और वाईफाई सेवाएं भी लचर ढंग से काम करती हैं। आए दिन ग्राहक बीएसएनएल की खराब क्वालिटी वाली सेवाओं से आजिज आ चुके हैं। इसके अलावा शिकायत करने के लिए यदि ग्राहक फोन मिलाते हैं, तो एसडीओ से लेकर टीडीएम तक लोगों का फोन तक नहीं उठाते हैं। यदि किसी कर्मचारी ने उठा भी लिया, तो समस्या ठीक करने के बजाय वह उल्टा प्रवचन देने लगता है।

     आपको बता दें कि, महराजगंज क्षेत्र में बीएसएनल के लगभग 50 हजार मोबाइल उपभोक्ता है। इसके अलावा सैकड़ों की तादाद पर में वाईफाई और इंटरनेट चलाने वाले ग्राहक हैं। सरकारी संस्थाओं वित्तीय संस्थाओं में अधिकतर सरकारी सेवा होने के कारण बीएसएनएल का ही कनेक्शन ले रखा है, सब के सब परेशान हैं।

    सबसे बड़ी दिक्कत तो उन उपभोक्ताओं के सामने है, जो सरकारी अधिकारियों जैसे एसडीएम, क्षेत्राधिकारी, तहसीलदार, बिजली विभाग, ब्लॉक तथा पुलिस अधिकारियों से कोई काम पड़ता है, तो प्रायः नेटवर्क गायब रहने से लोग अपनी समस्या अधिकारियों तक नहीं पहुंचा पाते हैं। क्योंकि अधिकारियों के पास जो मोबाइल है उनमें सिय्वूजी नंबर बीएसएनएल के ही होते हैं। यह भी बात जानकारी में आई है कि, बीएसएनएल के जो भी टावर लगे हैं, जब तक बिजली रहती है, तब तक उनमें सेवा चालू रहती है। जैसे ही बिजली गई नहीं की टावर काम करना इसलिए बंद कर देते हैं, क्योंकि बीएसएनएल के पास जनरेटर में डालने के लिए डीजल तक की व्यवस्था नहीं है। इसलिए बिजली आने और जाने पर बीएसएनएल की सेवा निर्भर करती है।

    सबसे बुरा हाल उन प्राइवेट इंजीनियरों व अन्य युवाओं के सामने है, क्योंकि लॉकडाउन के चलते अधिकांश युवा वर्ग के यह लोग अपने अपने घरों पर आकर घर से कंपनियों का काम करते हैं, इस इंटरनेट सेवा के लिए लोगों को वाईफाई लगवानी पड़ी है। क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों में बीएसएनएल के ही नेटवर्क हैं इसलिए मजबूरन लोगों को बीएसएनएल का वाईफाई कनेक्शन लेना पड़ा है। लेकिन यह कनेक्शन भी काम नहीं कर रहे हैं। कभी नेटवर्क की समस्या, तो कभी स्पीड की समस्या, कुल मिलाकर बीएसएनल की वाईफाई सेवा ही एक समस्या बन गई है।

    क्षेत्रीय उपभोक्ताओं उत्कर्ष पांडेय, रजनीकांत अवस्थी, विवेक पांडेय, प्रभात चौधरी, अनुराग वर्मा सहित दर्जनों युवाओं ने केंद्रीय दूरसंचार मंत्री से रायबरेली जिले में कार्यरत बीएसएनएल कर्मियों से जवाब तलब कर इन व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराने की मांग की है।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *