शिवाकांत अवस्थी

रायबरेली: हरचंदपुर थाना क्षेत्र के महुआखेड़ा मजरे गुनावर कमंगरपुर गांव में हो रही चकबंदी के विरोध में सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू शुक्रवार को डीएम दफ्तर के सामने सैकड़ों कांग्रेसियों के साथ धरने पर बैठ गए थे। 

   आपको बता दें कि, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, भाजपा सरकार किसानों और जनता की आवाज दबा रही है। किसानों के हक के लिए सड़क से लेकर सदन तक लड़ाई लड़ी जाएगी। उन्होंने कहा कि, एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह व उनके भाई जमीन हथियाने के लिए किसानों का उत्पीड़न करा रहे हैं। तत्कालीन डीएम नेहा शर्मा ने चकबंदी पर रोक लगा दी थी, इसके बावजूद किसानों की जमीन हथियाने के लिए चकबंदी कराई जा रही थी।

   प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, राजस्व अभिलेखों में हेराफेरी करवाने एवं हरचंदपुर पुलिस की मिलीभगत से किसानों व महिलाओं पर बर्बरता पूर्वक लाठी चार्ज कराया गया। 150 किसानों एवं महिलाओं को फर्जी मुकदमों में फंसाकर उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। 

   एमएलसी दीपक सिंह ने कहा कि, सत्ता के मद में चूर एमएलसी दिनेश प्रताप सिंह और विधायक हरचंदपुर राकेश सिंह के इशारे पर पुलिस महिलाओं और पुरुषों का उत्पीड़न कर रही है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष पंकज तिवारी ने कहा कि, भाजपा शासन में गरीब-किसानों पर हो रहे जुल्म ज्यादती को कांग्रेस सहन नहीं करेंगी। 

  कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट युवराज सिंह को सौंपा। ज्ञापन में किसानों के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस लेने, चकबंदी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और हेराफेरी करके किसानों की ली गई जमीन को वापस कराए जाने की मांग की गई है। 

   इस मौके पर प्रदेश महासचिव सुशील पासी, मनीष सिंह, सत्य प्रकाश पांडेय, साहब शरण पासवान, अशोक सिंह, विजय शंकर अग्निहोत्री, निर्मल शुक्ला, सईदुल हसन, अमर सिंह चौधरी, महेश प्रसाद शर्मा, अजीत सिंह, महराजगंज मीडिया प्रमुख प्रिंसू वैश्य, संतोष त्रिवेदी मौजूद रहे। इससे पहले कांग्रेस कार्यालय तिलक भवन से कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रैली निकाल कर कलेक्ट्रेट पहुंचकर धरना दिया।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *