हमीरपुर में जब बारातियों की बजाय पहुंच गई पुलिस, फिर जानिए क्या हुआ?

यूपी के हमीरपुर जिले में शुक्रवार को नाबालिग दुल्हन की शादी की तैयारी चल रही थी, इसी बीच जिला प्रोबेशन अधिकारी ने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर शादी रुकवा दी। कार्रवाई से दुल्हन पक्ष के घर में सन्नाटा पसर गया है। दुल्हन के परिजनों ने दूल्हे के घर वालों को फोन कर बारात लाने से मना कर दिया है।

किसी ने डीएम को दे दी सूचना
हमीरपुर जिले के कुरारा कस्बे के वार्ड-2 गैस एजेंसी के पास रहने वाले प्यारेलाल वाल्मीकि की बेटी रामदेवी की शादी शुक्रवार होनी थी। शादी को लेकर तैयारी चल रही थी। बारातियों के स्वागत और खाने के लिए भोजन और पकवान भी बनाया जा रहा था, तभी दोपहर बाद किसी ने डीएम को नाबालिग लड़की की शादी होने की जानकारी दे दी। डीएम ने तत्काल जिला प्रोबेशन अधिकारी को टीम बनाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिला प्रोबेशन अधिकारी नीरज कुमार पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और शादी की तैयारियों को रोकते हुए मामले की जांच शुरू कर दी।

आधार कार्ड और राशन कार्ड में जन्मतिथि अलग
टीम ने दुल्हन का आधार कार्ड देखा तो उसमें उसकी उम्र 15 साल की हो रही थी, जबकि राशन कार्ड में ये 21 वर्ष की हो रही थी। टीम ने परिजनों के बयान दर्ज किए। प्यारेलाल ने बताया कि बेटी की शादी कुरारा क्षेत्र के भौली गांव में कालीचरण वाल्मीकि के पुत्र अंकित के साथ तय हुई थी। बारातियों के लिए खाना बनवाया जा रहा था, लेकिन ऐन वक्त पर उनके अरमानों पर पानी फेर गया।

प्यारेलाल की पांच पुत्रियां और दो पुत्र हैं। जिसमें तीन पुत्रियों की शादी हो चुकी है। रामदेवी चौथे नम्बर की बेटी थी है। प्रशासनिक कार्रवाई होने के बाद परिजनों ने दूल्हे के घर वालों को फोन कर बारात लाने से भी मना कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *