Archery World Cup Stage 3 : दीपिका कुमारी, अंकिता और कोमलिका की तिकड़ी ने स्वर्ण पर साधा निशाना

दीपिका कुमारी, अंकिता भकत और कोमलिका बारी की भारतीय महिला रिकर्व टीम ने रविवार को तीरंदाजी विश्व कप के तीसरे चरण के फाइनल में मैक्सिको को हराकर स्वर्ण पदक जीता।

भारतीय तिकड़ी ने खिताबी जीत के साथ ही इस महीने की शुरुआत में ओलिंपिक के आखिरी क्वालीफायर में पहले दौर की हार की निराशा को कुछ हद तक दूर किया। उनकी 5- 1 की जीत से भारत को विश्व कप के तीसरे चरण में दूसरा स्वर्ण पदक मिला।

पीएम ने दीपिका सहित कई खिलाड़ियों का किया जिक्र
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ में रविवार को ओलंपिक में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के बारे में बात की। उन्होंने तीरंदाज दीपिका कुमारी और प्रवीण जाधव, हॉकी खिलाड़ी नेहा गोयल, मुक्केबाज मनीष कौशिक, पैदल चाल खिलाड़ी प्रियंका गोस्वामी, भालाफेंक एथलीट शिवपाल सिंह, बैडमिंटन खिलाड़ी चिराग शेट्टी एवं उनके साथी सात्विक साईराज रंकीरेड्डी और तलवारबाज सीए भवानी देवी के जिंदगी के संघर्षों का जिक्र किया।

पीएम ने कहा, ‘हमारे देश में तो अधिकांश खिलाड़ी छोटे-छोटे शहरों, कस्बों, गांवों से निकल कर आते हैं। तोक्यो जा रहे हमारे ओलिंपिक दल में भी कई ऐसे खिलाड़ी शामिल हैं, जिनका जीवन बहुत प्रेरित करता है।’

पीएम ने इसके जरिए देश के संबोधन में कहा, ‘तोक्यो जा रहे हर खिलाड़ी का अपना संघर्ष रहा है, बरसों की मेहनत रही है। वो सिर्फ अपने लिए ही नहीं जा रहें बल्कि देश के लिए जा रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इन खिलाड़ियों को भारत का गौरव बढ़ाना है और लोगों का दिल भी जीतना है और इसलिए मेरे देशवासियों मैं आपको भी सलाह देना चाहता हूं, हमें जाने-अनजाने में भी हमारे इन खिलाड़ियों पर दबाव नहीं बनाना है, बल्कि खुले मन से, इनका साथ देना है, हर खिलाड़ी का उत्साह बढ़ाना है।’

अभिषेक वर्मा ने दिलाया था पहला गोल्ड

इससे पहले शनिवार को कंपाउंड व्यक्तिगत स्पर्धा में अभिषेक वर्मा ने भारत के लिए पहला स्वर्ण पदक जीता था। कंपाउंड तीरंदाज अभिषेक वर्मा ने अमेरिकी दिग्गज क्रिस शाफ को शूटऑफ में हराकर चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया।

बराबरी के फाइनल मुकाबले में दोनों ने सिर्फ दो दो अंक गंवाए। दोनों 148-148 का स्कोर करके बराबरी पर थे। दुनिया के पांचवें नंबर के तीरंदाज शाफ ने नौ के साथ शूटऑफ शुरू किया जबकि वर्मा ने परफेक्ट दस अंक बनाए।

वर्मा का विश्व कप व्यक्तिगत स्पर्धा में यह दूसरा स्वर्ण है। उन्होंने 2015 में व्रोक्लॉ में विश्व कप के दूसरे चरण में भी पीला तमगा जीता था। इससे पहले उन्होंने रूस के अंतोन बुलाएव को 146-138 से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *