गिरीश मालवीय
कल यूरोपीय देशों की अधिकृत यूरोपीय मेडिसिन एजेंसी (EMA) ने कहा कि हम कोविशील्ड लगाने वाले लोगो को अपने देश मे एंट्री करने के लिये जरूरी ग्रीन पास यानी वेक्सीन पासपोर्ट नही देंगे, यूरोपीय संघ (EU) ने भी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा बनाई गई कोविशील्ड को ख़ारिज कर दिया है। जबकि उसी फार्मूले पर बनी वेक्सजेरविरिया वेक्सीन जो एस्ट्राजेनेका-ऑक्सफोर्ड ने बनाई है उसे उन्होंने मंजूरी दे दी है,
ईएमए ने सिर्फ चार टीकों को मंजूरी दी है जिनका उपयोग यूरोपीय संघ के सदस्य देशों द्वारा पासपोर्ट वैक्सीन प्रमाण पत्र जारी करने के लिए किया जा सकता है। इसमे एस्ट्राजेन्का के वेक्सजेरविरिया के अलावा कॉमिरनाटी (फाइजर/बायोएनटेक), मॉडर्न ओर जानसेन (जॉनसन एंड जॉनसन) शामिल हैं
यानी अगर उसी फार्मूले से बनी वेक्सीन गरीब और मध्यम देशो में लग रही है तो उसे अनुमोदन नही दिया जाएगा लेकिन वही वेक्सीन अमीर देशों में लग रही हैं तो उसे तुरंत अनुमोदन मिल जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *