कोरोना के इस दौर में आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम सर्विस लोगों के खूब काम आ रही है. इस सर्विस की मदद से लाखों लोग रोजाना कैश निकालते है. लॉकडाउन में सरकार की यह सुविधा लोगों को सुरक्षा देने के साथ ही मददगार भी बन रही है. आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (AePS), नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित एक सिस्टम है जो लोगों को आधार नंबर और उनके फिंगरप्रिंट/आईरिस स्कैन (आंखो की पुतलियों) की मदद से वैरिफिकेशन करके माइक्रो-एटीएम द्वारा वित्तीय ट्रांजेक्शन करने की अनुमति देता है. इस पेमेंट सिस्टम की सहायता से लोग अपने आधार नंबर के जरिए एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक में पैसे भेज सकते हैं और प्राप्त कर सकते हैं. यह सुरक्षित भी है, क्योंकि ट्रांजेक्शन के लिए बैंक जानकारी की आवश्यकता नहीं होगी. ट्रांजेक्शन को अधिकृत करने के लिए खाताधारक के फ्रिंगरप्रिंट की जरूरत होती है.

आइए जानते हैं कि AePS सर्विस के बारे में कौन कब और कैसे उठा सकता है इसका फायदा…
(1) पूरे देश में आपको आधार इनेबल पेमेंट सिस्टम की सुविधा देता है, लेकिन इस सुविधा का फायदा सिर्फ वही ग्राहक ले सकते हैं, जिनका खाता बैंक अकाउंट से लिंक है. वहीं उनका खाता इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) में भी होना चाहिए.AePS सर्विस के तहत डाक विभाग IPPB में जन धन खाताधारकों सहित किसी भी बैंक के ग्राहकों को इंटरऑपरेबल डोरस्टेप बैंकिंग सेवाएं प्रदान करता है.
(2) AEPS के जरिए मिलती है ये सुविधाएं – कैश विद्ड्रॉल, बैंलेस की जानकारी, फंड ट्रांसफर, मिनी स्टेटमेंट
(2) इस सर्विस का इस्तेमाल करने के लिए आपका बैंक अकाउंट आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए. आधार-लिंक्ड बैंक खाते वाले कोई भी खाताधारक इस सिस्टम के जरिए लेन-देन आरंभ कर सकता है. उसे अपनी पहचान को फिंगरप्रिंट स्केन और आधार प्रमाणीकरण प्रक्रिया के साथ प्रमाणित करना होता है. अगर ग्राहक ब्रांच के 300 मीटर के दायरे में लेन देन करता है तो यह सुविधा फ्री होगी. उससे ज्यादा दूर होने पर डोरस्टेप चार्ज लिया जाता है.
(3) डाकघर फिलहाल AEPS के जरिए लाखों लोगों की मदद कर रहा है. इससे से जुड़ने के बाद डाकिया ही विद्ड्रॉल से लेकर मिनी स्टेटमेंट और बैंक बैलेंस के बारे में जानकारी देता है. IPPB की सेवाएं 136,000 से अधिक डाकघरों में उपलब्ध हैं और 195,000 से अधिक डाकियों और GDSs (ग्रामीण डाक सेवकों) द्वारा डोरस्टेप सर्विस दी जा रही है.
(4) आधार इनेबल पेमेंट सिस्टम के जरिए डाक घर में आपको कैश जमा और निकालने के अलावा आपको खाते का बैंलेंस चेक करने और मनी ट्रांसफर और फंड ट्रांसफर की सुविधाएं भी मिलती हैं. इसके जरिए आप बैंक से अपने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में कैश भेज सकते हैं.
बैंकिंग के साथ ही गैर-बैंकिंग ट्रांजैक्शन की भी सुविधा है. AEPS के जरिए ट्रांजैक्शन करने के लिए अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड को पेश करने की आवश्यकता नहीं है. ट्रांजैक्शन करनेवेरीफाई के लिए फिंगरप्रिंट की जरूरत होती है जो इसे सुरक्षित बनाता है. दूर-दराज के गांवों में लोगों को तुरंत ट्रांजैक्शन करने के लिए माइक्रो PoS मशीनों को दूर के स्थानों पर ले जाया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *