‘प्री-असेंबली’ इलेक्शन में ही गठबंधन में दिखने लगी दरार, अपना दल ने लगाया आरोप- सहयोग नहीं कर रही बीजेपी

उत्तर प्रदेश में साल 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बीजेपी और अपना दल (एस) के बीच गठबंधन है। जौनपुर और सोनभद्र सीट बीजेपी ने अपना दल (एस) के कोटे में दे दी है और जिला पंचायत चुनाव में दोनों दलों की संयुक्त उम्मीदवार रीता पटेल घोषित हुई हैं। इस बीच अपना दल (एस) के राष्ट्रीय सचिव पप्पू माली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी जिला संगठन गंभीर आरोप लगाकर सनसनी फैला दी है। उन्होंने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में बीजेपी का जिला संगठन सहयोग नहीं कर रहा है।

जौनपुर में कुल 83 जिला पंचायत सदस्य हैं। प्रमुख सियासी दलों की बात करें तो अपना दल के 6 जिला पंचायत सदस्य हैं। भारतीय जनता पार्टी और बीएसपी के 10-10 सदस्य भी निर्वाचित हुए हैं। इस पंचायत चुनाव में समाजवादी पार्टी ने किसी को प्रत्याशी नहीं घोषित किया था। हालांकि एसपी का दावा है कि उसके भी 45 सदस्य निर्वाचित हुए हैं।

पूर्व सांसद हरिवंश सिंह की बहू हुईं बागी
बीजेपी के बैनर से वार्ड संख्या-16 से जिला पंचायत सदस्य के रूप में निर्वाचित हुई नीलम सिंह ने बागी प्रत्याशी के रूप में जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए नामांकन किया था। बीते कई दिनों से नीलम सिंह कई जिला पंचायत सदस्यों से मुलाकात कर रही थीं। वह बीजेपी से टिकट लेने के लिए भी कोशिश कर रही थीं। गठबंधन के खाते में सीट जाने के कारण नीलम सिंह को बीजेपी से टिकट नहीं मिला।

नीलम सिंह राजनीतिक परिवार से आती हैं। वह प्रतापगढ़ के पूर्व सांसद कुंवर हरिवंश सिंह की पुत्रवधू हैं। शुरुआती दौर में यह कयास लगाए जा रहे थे कि इनकी टक्कर निर्दल प्रत्याशी श्रीकला रेड्डी से होगी। बीजेपी से टिकट न मिलने पर बागी बन नीलम सिंह ने नामांकन किया है। नामांकन के दौरान प्रस्तावक के रूप में नीलम सिंह के साथ भारतीय जनता पार्टी के 2 जिला पंचायत सदस्य भी मौजूद थे। इस बात को लेकर एनडीए गठबंधन में दरार पड़ती नजर आ रही है।

हालांकि प्रतापगढ़ के पूर्व सांसद कुंवर हरिवंश सिंह कहते हैं कि उन्हें कई जिला पंचायत सदस्यों का समर्थन प्राप्त है और वह पूरी मजबूती से यह चुनाव लड़ने जा रहे हैं। कुंवर हरिवंश सिंह मुंबई के बड़े उद्योगपतियों में से भी एक हैं।

बाहुबली पूर्व सांसद धनंजय सिंह की पत्नी भी मैदान में
जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए वार्ड संख्या 45 से जिला पंचायत सदस्य के रूप में चुनी गई श्रीकला धनंजय सिंह ने भी दावेदारी पेश की है। श्रीकला ने बड़े अंतर से निवर्तमान जिला पंचायत अध्यक्ष राज बहादुर यादव की पत्नी को चुनाव हराया था। अभी हाल में हुए विधानसभा चुनाव में धनंजय सिंह को बहुत कम अंतर से हार का सामना करना पड़ा था।

​अपना दल और बीजेपी में अनबन

अपना दल और बीजेपी में अनबन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *