रायपुर। छत्तीसगढ़ पुलिस के लिए 10 साल से चुनौती बनी थी उसे बातों-बातों में सुलझा लिया गया। मामले का खुलासा तब हुआ जब एक आरोपी ने बातों ही बातों में अपने एक दोस्त को बताया कि उसने 2011 में रायपुर में एक व्यक्ति की हत्या की थी। पुलिस ने मुख्‍य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है जिसकी पहचान संतोष यादव उर्फ घनश्याम और उसके साथी लोकेश यादव के रूप में हुई है। पुलिस के आला अधिकारी ने बताया कि फरहादा गांव में जनवरी 2011 में रायपुर के कोसरंगी गांव निवासी लेखराम सेन (40) की हत्या कर दी गई थी।

उन्होंने बताया कि इसके बाद पुलिस को इसकी भनक लग गयी और उन्होंने कुछ दिनों पहले उससे पूछताछ की थी। अधिकारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान संतोष यादव ने पुलिस को बताया कि उसने लोकेश यादव की मदद से जनवरी 2011 में सेन की गला घोटकर हत्या कर दी थी और शव को फरहादा गांव के धान के एक खेत में फेंक दिया था।

उन्होंने बताया, ‘पुलिस को दिए अपने बयान में संतोष ने बताया कि 2011 में वह अपने मामा के घर गया था और उसकी एक लड़की से दोस्ती हो गयी थी। गांव में देर रात धान के खेत में अपनी प्रेमिका से मुलाकात करते वक्त वहां से गुजर रहे सेन ने दोनों को देख लिया और उन्हें उनके रिश्ते के बारे में गांववालों को बताने की धमकी दी। बाद में संतोष ने लोकेश की मदद से सेन की उसकी बेल्ट से कथित तौर पर गला घोटकर हत्या कर दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *