Wimbledon 2021 update: दूसरे राउंड में पहुंचे जोकोविच, सितसिपास के साथ उलटफेर

विश्व के नंबर 1 खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच, जो विश्व रिकॉर्ड की बराबरी करने वाले 20वें ग्रैंड स्लैम खिताब पर नजर गड़ाए हुए हैं, ने स्थानीय खिलाड़ी जैक ड्रेपर को 4-6, 6-1, 6-2, 6-2 से हराकर विंबलडन अभियान की शुरूआत जीत के साथ की।

जोकोविच, जिन्होंने 19 ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं, पहला सेट 19 वर्षीय से हार गए, लेकिन अपने अनुभव का उपयोग कर शेष तीन सेट जीतकर आगे का सफर जारी रखने में सफल रहे।

टियाफो ने सितसिपास को हराया
अमेरिका के फ्रांसेस टियाफो ने पहले दिन बड़ी जीत के साथ दूसरे दौर में प्रवेश किया। टियाफो ने इस साल के फ्रेंच ओपन फाइनलिस्ट ग्रीस के स्टेफानोस सितसिपास को 6-4, 6-4, 6-3 से हराया। टियाफो, जो दुनिया में रैंकिंग में 57वें स्थान पर हैं, ने अपने करियर में पहली बार किसी शीर्ष -5 खिलाड़ी को हराने के क्रम में एक भी अपनी सर्विस नहीं गंवाई। 23 वर्षीय अमेरिकी ने 7 एस लगाए जबकि सितसिपास ने 15 एस लगाए। यही नहीं, टियाफो ने 3 डबल फॉल्ट किए जबकि सितसिपास ने 1 बार ही डबल फॉल्ट किया। तीसरी वरीयता प्राप्त सितसिपास इस महीने की शुरूआत में फाइनल में सर्बिया के नोवाक जोकोविच से फ्रेंच ओपन हार गए थे।

जोकोविच अगले दौर में दुनिया के पांचवें नंबर के खिलाड़ी केविन एंडरसन से भिड़ सकते हैं, जिनका सामना चिली के क्वालीफायर मासेर्लो टॉमस बैरियोस वेरा से होगा। जोकोविच ने मैच के बाद कहा, ‘हर किसी को देखकर और शायद दुनिया के सबसे खास, सबसे पवित्र टेनिस कोर्ट पर वापस आकर बहुत अच्छा लगता है। जाहिर है, कई अन्य खिलाड़ियों के साथ, मैं पिछले साल बहुत दुखी था कि विंबलडन रद्द कर दिया गया था।’

दूसरी सीड सबालेंका ने हासिल की आसान जीत
दूसरी सीड बेलारूस की एरिना सबालेंका ने रोमानिया की क्वालीफायर मोनिका निकुलेस्कु को हराया। मैच एक घंटे 15 मिनट तक चला, जिसका फैसला 6-1, 6-4 से हुआ। सबालेंका की विंबलडन के मुख्य ड्रॉ में यह दूसरी जीत है, इससे पहले उन्होंने 2017 में अपने डेब्यू में रूस की इरिना खरोमाचेवा को हराया था। 2019 में सबालेंका को पहले राउंड में स्लोवाकिया की मागदालेना रिबारिकोवा के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। 33 वर्षीय मोनिका ने शीर्ष-10 की खिलाड़ी को आखिरी बार 2017 में हराया था जब उन्होंने ब्रटेन की जोहाना कोंटा को मात दी थी। हालांकि, उन्हें 2021 में पहले राउंड में आठ बार हार मिली है।

सालभर के ब्रेक के बाद विंबलडन में लौटे फैंस
कोरोना वायरस महामारी के कारण पिछले साल स्थगित हुए विंबलडन की वापसी के साथ स्टेडियम में प्रशंसकों की भी वापसी हुई। आसमान में बादल और बूंदा-बांदी के बीच मैच का लुत्फ उठाने के लिए फैंस मास्क लगाकर पहुंचे। आयोजकों ने शुरूआत में सीमित संख्या में दर्शकों को अनुमति दी है, लेकिन उनकी योजना दो सप्ताह बाद होने वाले पुरुष और महिला एकल के फाइनल में सेंटर कोर्ट की क्षमता के मुताबिक 15,000 दर्शकों को आने की अनुमति देने की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *