सोशल मीडिया पर दोस्ती कर अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह के चंगुल में हांसी उपमंडल के एक गांव का सरपंच फंस गया, सरपंच से पहले फेसबुक पर एक महिला ने दोस्ती की, फिर आपत्तिजनक वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करते हुए हजारों रुपयों की डिमांड कर डाली, सरपंच ने पैसे देने से इंकार किया, तो आपत्तिजनक वीडियो उसके दोस्तों को भेजकर वायरल कर दी।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हांसी उपमंडल के एक गांव के सरपंच के पास फेसबुक पर महिला के संदेश आये, जिसके बाद महिला ने दोस्त बनने की गुजारिश की और दोनों के बीच दोस्ती हो गई, दरअसल ये महिला सोशल मीडिया के जरिये अश्लील वीडियो बनाकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह की सदस्य थी, महिला ने सरपंच की आपत्तिजनक वीडियो बना ली, फिर गिरोह के पुरुष सदस्यों ने ब्लैकमेल करते हुए हजारों रुपये की डिमांड करने लगे, लेकिन सरपंच ने पैसे देने से मना कर दिया।
गिरोह के सदस्यों ने सरपंच की फेसबुक पर फेक आईडी बनाकर वीडियो को पोस्ट करते हुए सरपंच के गांव के दोस्तों को टैग कर दिया, जिसके बाद सरपंच ने मामले में पुलिस से मदद मांगी, कुछ ग्रामीणों पर भी वीडियो को वायरल करने का आरोप लगा है, मामले में गांव की पंचायत ने पुलिस अधिकारियों से भी मुलाकात की और कार्रवाई की मांग की है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार मामले में साइबर सेल द्वारा जांच की जा रही है, भाटला चौकी इंचार्ज रामनिवास ने बताया कि मामले में आला पुलिस अधिकारियों को शिकायत दी गई है, अभी जिला पुलिस ने साइबर सेल में मामले की जांच कर रही है।
इंटरनेट पर दोस्ती कर ठगने वाला गिरोह महिलाओं का इस्तेमाल करता है, पहले महिलाओं के जरिये फेसबुक या व्हाट्सएप्प पर संदेश करवाये जाते हैं, जिसके बाद महिला सामने वाले को अपनी मीठी बातों में उलझाते हुए दोस्ती करने की कोशिश करती है, जो इस खेल को नहीं समझ पाते, वो महिला के चंगुल में फंस जाते हैं, फिर महिला आपत्तिजनक वीडियो बना लेती है, वीडियो रिकॉर्ड होने के बाद गैंग के पुरुष सदस्य रोल में आते हैं और ब्लैकमेल करना शुरु करते हैं। बीते दो सालों में हांसी पुलिस के पास ऐसी कई शिकायतें आ चुकी है, काफी लोग इस गैंग का शिकार हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *