Adar Poonawalla: कोविशील्ड से नहीं बनी शरीर में ऐंटीबॉडी? अदार पूनावाला के खिलाफ लखनऊ कोर्ट में अर्जी, 2 जुलाई को होगी सुनवाई

लखनऊ में कोविशील्ड की वैक्सीन लगवाने के बावजूद ऐंटीबॉडी न बनने पर सीरम इंस्टिट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला के खिलाफ कोर्ट में अर्जी दाखिल की गई है। इस मामले में संबंधित थाने से रिपोर्ट लेकर कोर्ट 2 जुलाई को अगली सुनवाई करेगा। शख्स का आरोप है कि कोविशील्ड की एक डोज लेने के बाद उसके शरीर में ऐंटीबॉडी नहीं बनी बल्कि प्लेटलेट्स घट गई जिससे संक्रमण का खतरा हो गया है।

थाने में केस नहीं दर्ज होने पर शख्स ने वकील की मदद से कोर्ट का रुख किया था। कोर्ट ने मामला संज्ञान में लेते हुए 156-3 के तहत सीरम कंपनी के मालिक अदार पूनावाला, ड्रग कंट्रोल डायरेक्टर, स्वास्थ सचिव, ICMR और डब्ल्यूएचओ के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया है।

8 अप्रैल को लगवाई थी कोविशील्ड की पहली डोज
लखनऊ के कैंट थाना क्षेत्र निवासी प्रतापचंद्र नाम के शख्स ने शिकायत दर्ज कराई थी कि 8 अप्रैल को उसने कोविशील्ड वैक्सीन की पहली डोज लगवाई थी। दूसरी डोज की तारीख 28 दिन बाद की थी, जो 6 हफ्ते और बढ़ा दी गई।

25 मई को कराया था ऐंटीबॉडी टेस्ट
प्रतापचंद्र ने अपनी तहरीर में ICMR के डायरेक्टर के एक बयान का जिक्र करते हुए कहा कि कोविडशील्ड वैक्सीन के पहले डोज के बाद शरीर में अच्छे लेवल की ऐंटीबॉडी बन जाती है। पहली डोज लगने के डेढ़ महीने बाद यानी 25 मई को जब प्रतापचंद्र कोविड ऐंटी बॉडी का टेस्ट कराया गया। 2 दिन बाद सामने आई रिपोर्ट में पता चला कि शरीर में ऐंटीबॉडी नहीं बनी है और साथ ही प्लेटलेट्स में भी 50 फीसदी की कमी आ गई है।

ऐंटीबॉडी नहीं बनी और प्लेटलेट्स भी कम हो गईं
शिकायत करने वाले का कहना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद शरीर में तेजी से ऐंटी बॉडी बनने का दावा किया जा रहा था लेकिन उनके शरीर में ऐंटीबॉडी तो नहीं ही बनी, साथ में प्लेटलेट्स भी गिर गईं। ऐसी स्थिति में संक्रमण का खतरा होने के साथ साथ मरीज की असमय मृत्यु होने की आशंका बढ़ जाती है।

Adar Poonawala

अदार पूनावाला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *