सिंघु बॉर्डर !
– दीदी भूख लग रही है ।
– अरे भूख लग रही है तो आम खा लो , लंगर में अभी देर है ।
– अगर वो पत्रकार आ गयी तो ??
– टेन्शन मत लो , वो तुमसे नहीं पूछेगी कि आम चूसकर खाती हो या काटकर । इतने मुश्किल सवाल पत्रकार बस मोदी जी से पूछते हैं ।
– नहीं दीदी , वो ट्वीट में फ़ोटो छापकर बोलेगी कि देखो गरीब किसान आम खा रहे हैं ।
– मेरा बेटा ट्विटर पर है , चिंता मत करो उसे वो जवाब दे देगा ।
– आपका एक बेटा किस किस को जवाब देगा ??
– वो सब हमारे ही तो बच्चे हैं जो सोशल मीडिया पर किसानो के साथ खड़े हैं । तुम्हें याद नहीं AC वाले मुद्दे पर हमारे बच्चों ने कैसी फ़ुटबाल बनायी है ।
– ठीक है दीदी , आम लेकर आओ , तीनो कैम्प के बाहर बैठकर खाते हैं ।
– जिससे कोई फ़ोटो ले और हमारे बेटे उसकी ट्विटर पर फ़ुटबॉल बना सके ।
– दीदी आपको फ़ुटबॉल का खेल भी पसंद है क्या ??
– अब ख़ालिस्तान के बाद अर्बन नक्सल का आरोप भी सुनना चाहती हो ??

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *