हमीरपुर में एंटी करप्शन टीम ने लेखपाल को रिश्वत लेते दबोचा, पुलिया निर्माण की अनुमति के लिए मांगे थे रुपये

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में मंगलवार देर शाम भ्रष्टाचार निवारण संगठन (यूटा) की मदद से एंटी करप्शन टीम झांसी ने तहसील के लेखपाल को रिश्वत लेते दबोच लिया है। उसे पकड़कर कोतवाली में पूछताछ की जा रही है। इस कार्रवाई से लेखपालों में हड़कंप मचा हुआ है।

हमीरपुर जिले के राठ कोतवाली क्षेत्र के औंता गांव के किसान मयंक राजपूत ने बताया कि पिता राधाकिशुन के नाम पर औंता मौजा में कृषि भूमि है। जिसमें आवागमन के लिए पुलिया निर्माण करा रहे थे। लेखपाल रमाशंकर ने निर्माण कार्य रुकवा दिया। अधिकारियों को प्रार्थना पत्र देने पर मामले की जांच उक्त लेखपाल को सौंपी गई। मयंक का आरोप है कि लेखपाल ने स्वीकृति दिलाने के नाम पर 35 हजार रुपये रिश्वत की मांग की। काफी गिड़गिड़ाने पर लेखपाल तीस हजार में मान गया। 15 हजार अभी और 15 हजार कुछ दिन में देने पर बात बनी।

की जा रही है पूछताछ
किसान ने बताया कि उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रहे शिक्षक संगठन यूटा के प्रदेश कोषाध्यक्ष विजय पटेल से संपर्क किया। भ्रष्टाचार निवारण संगठन की झांसी इकाई में शिकायत दर्ज कराई। संगठनों की पहल पर एंटी करप्शन टीम ने मंगलवार देर शाम लेखपाल को 15 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया। टीम उन्हें पकड़ कर कोतवाली ले गई है। जहां बंद कमरे में पूछताछ की जा रही है। कोतवाल राजेश चंद्र त्रिपाठी ने कहा कि एंटी करप्शन टीम ने लेखपाल को रिश्वत लेते हुए पकड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *