India W vs England W: क्रॉस और डंकली ने दिलाई इंग्लैंड को जीत, मिताली की हाफ सेंचुरी गई बेकार

भारतीय महिला क्रिकेट टीम को इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के दूसरे मैच में पांच विकेट से हार का सामना करना पड़ा है। भारतीय टीम को पहले बल्लेबाजी का न्योता मिला। टीम ने मिताली राज की हाफ सेंचुरी की मदद से 221 रन बनाए। इंग्लैंड की मीडियम पेसर केट क्रॉस ने पांच विकेट लिए। इसके जवाब में इंग्लैंड ने शुरुआती झटकों से उबरते हुए 47.3 ओवर में 5 विकेट खोकर 225 रन बनाकर तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली।

मिताली ने बनाई हाफ सेंचुरी, नहीं मिला साथ
मिताली राज (Mithali Raj) ने फिर से हाफ सेंचुरी बनाई लेकिन उन्हें दूसरे छोर से सहयोग नहीं मिलने और केट क्रॉस (Kate Cross) की घातक गेंदबाजी के कारण भारत बुधवार को यहां दूसरे महिला एकदिवसीय दिन रात्रि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच (England Women vs India Women) में निर्धारित 50 ओवर में सभी विकेट गंवाकर 221 रन ही बना पाया।

 

मिताली (Mithali) ने रन आउट होने से पहले 92 गेंदों पर सात चौकों की मदद से 59 रन बनाए। उन्होंने पिछले मैच की तुलना में रन बनाने को प्राथमिकता दी थी लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरने के कारण वह भी दबाव में आ गईं। मध्यम गति की गेंदबाज क्रॉस ने 34 रन देकर पांच जबकि बाएं हाथ की स्पिनर सोफी एक्लेस्टोन ने 33 रन देकर तीन विकेट लिए।

वर्मा और मंधाना की सधी शुरुआत
भारत को पहले बल्लेबाजी का न्योता मिलने के बाद शेफाली वर्मा (Shaifali Verma) ने 55 गेंदों पर 44 रन बनाए। वहीं स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) (30 गेंदों पर 22 रन) ने पहले विकेट के लिए 54 रन जोड़े लेकिन 21 रन के अंदर तीन विकेट गंवाने से टीम दबाव में आ गई। बाद में मिताली और हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) (39 गेंदों पर 19 रन) के बीच चौथे विकेट के लिए 68 रन जोड़े लेकिन यह साझेदारी टूटते ही टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। भारत ने फिर कई खाली गेंदे जाने दी जो उसके लिए चिंता का विषय है।

india-team

क्रॉस ने आते ही पलटी बाजी
क्रॉस ने 12वें ओवर में दूसरे बदलाव के रूप में गेंद संभाली तथा आते ही मंधाना और जेमिमा रोड्रिग्स (आठ) को पवेलियन की राह दिखाई। मंधाना उनकी गुडलेंथ गेंद को कट करने के प्रयास में विकेटों में खेल गईं जबकि जेमिमा की टाइमिंग सही नहीं थी और गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर हवा में लहरा गई थी।

शेफाली को मिला जीवनदान
शेफाली जब 21 रन पर थी तब कैथरीन ब्रंट की गेंद पर लॉरेन विनफील्ड हिल ने मिडऑफ पर उनका आसान कैच छोड़ा। अपने नैसर्गिक अंदाज में बल्लेबाजी कर रही यह 17 वर्षीय बल्लेबाज इसका फायदा नहीं उठा पाई और एक्लेस्टोन की गेंद को आगे बढ़कर खेलने के प्रयास में स्टंप आउट हो गई।

हरमनप्रीत नहीं दिखीं रंग में
मिताली और हरमनप्रीत (Harmanpreet) ने इसके बाद जिम्मा संभाला। मिताली ने सहजता से रन बटोरे और इस बीच कुछ अच्छे शॉट लगाए लेकिन हरमनप्रीत को शुरू से संघर्ष करना पड़ा। क्रॉस के दूसरे स्पैल में उन्होंने भी जेमिमा की तरह गेंद हवा में लहराकर अपना विकेट इनाम में दिया। क्रॉस ने इसके बाद दीप्ति शर्मा (12 गेंदों पर पांच) और स्नेह राणा (सात गेंदों पर पांच) को आउट करके अपने करियर में दूसरी बार मैच में पांच विकेट लेने का कारनामा किया।

मिताली पर बढ़ता गया दबाव
मिताली ने 80 गेंदों पर अपने वनडे करियर का 57वां अर्धशतक पूरा किया लेकिन दूसरे छोर से विकेट गिरने का क्रम नहीं रुका जिसका दबाव उन पर साफ दिख रहा था। वह आखिर में तीसरा रन चुराने के प्रयास में रन आउट हो गईं। झूलन गोस्वामी (19 गेंदों पर नाबाद 19 रन) और पूनम यादव (15 गेंदों पर 10 रन) ने आखिरी विकेट के लिए 22 गेंदों पर 29 रन जोड़े जिससे भारत सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचा।

भारतीय बोलर्स ने करवाई वापसी
भारतीय टीम ने गेंदबाजी में कुछ वापसी की और इंग्लैंड के पांच विकेट 133 रन पर निकाल दिए। हालांकि इसके बाद सोफिया डंकली ने 81 गेंद पर नाबाद 73 रन बनाकर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा की। उन्होंने अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

mithali-raj

सोफिया को कैथरीन ब्रंट का बखूबी साथ मिला। ब्रंट ने 46 गेंद पर 33 नाबाद रन बनाए। दोनों ने छठे विकेट के लिए 92 रन जोड़े।

झूलन ने लिया पहला विकेट
अनुभवी पेसर झूलन गोस्वामी ने टैमी ब्लूमोंट को आउट कर भारत को पहली कामयाबी दिलाई। इसके बाद कप्तान हीथर नाइट भी 10 रन बनाकर आउट हो गईं। उन्हें पूनम यादव ने झूलन गोस्वामी के हाथों कैच करवाया।

भारतीय टीम ने लगातार अंतराल पर विकेट लेकर इंग्लैंड को दबाव में डाल दिया। हालांकि इंग्लिश खिलाड़ियों ने इसका असर रनगति पर नहीं पड़ने दिया। वे लगातार इसे बरकरार रखने में सफल रहीं।

डंकली और ब्रंट की जोड़ी पड़ी भारी
133 पर पांच विकेट गिरने के बाद डंकली और ब्रंट की जोड़ी ने भारतीय गेंदबाजों के लिए कोई राहत नहीं छोड़ी। दोनों ने करीब 20 ओवर साथ बल्लेबाजी की और अपनी टीम को जीत दिलाई।

भारतीय टीम ने पिछले मैच को आठ विकेट से गंवाने वाली टीम में तीन बदलाव किए तथा पूनम राउत, पूजा वस्त्राकर और एकता बिष्ट की जगह जेमिमा, स्नेह राणा और पूनम यादव को अंतिम एकादश में रखा। इंग्लैंड ने अपनी टीम में कोई परिवर्तन नहीं किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *